Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शहीद दिवस पर भगत सिंह, राजगुरू व सुखदेव को दी गई श्रद्धांजलि

    शहीद दिवस पर भगत सिंह, राजगुरू व सुखदेव को दी गई श्रद्धांजलि

    शाहजहांपुर/अल्हागंज। आज देश में 23 मार्च को शहीदे आजम भगतसिंह की शहादत दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। आज ही के दिन तीन वीर सपूतों ने हंसते-हंसते अपने प्राणों को न्‍यौछावर कर दिया था। जिससे आज देश भर में श्रंद्धाजलि सभा का आयोजन हो रहा है। राष्ट्रीय सोशल मीडिया संघ ने भी आज शहीदी दिवस मनाया। राष्ट्रीय सोशल मीडिया संघ  के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित वाजपेयी का कहना है कि उनके संघ ने शहीद दिवस को मनाया है। इस दौरान मंगलवार को सुबह शहीद भगतसिंह, राजगुरू और सुखदेव को श्रद्धांजलि अर्पित की गई है। एसोशिएशन के सदस्यों ने इस दौरान उन्हें याद किया। इस दोरान वाजपेयी ने कहां कि यूं तो उन्हें हर दिन याद और हर पल हिंदुस्तानी याद करते रहते, लेकिन आज का दिन ज्यादा खास है।

    आज के दिन ये तीनों ही वीर सपूत हंसते हंसते फांसी के फंदे पर झूल गए थे।  जब देश में अंग्रेजों के अत्याचारों से लोग परेशान थे। उस समय अनेक वीर सपूत पैदा हुए जिन्होंने अंग्रेजों की दासता से मुक्ति दिलाने के लिए विशेष योगदान दिया। जिनमें तीन पक्के क्रांतिकारियों शहीद-ए-आजम भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव का नाम भी शामिल था। इस दौरान ब्रिटिश सरकार ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया और 24 मार्च 1931 को तीनों को एक साथ फांसी की सजा सुना दी। ऐसे में उनकी फांसी की खबर पर उनके समर्थक भड़क उठे। सबसे खास बात तो यह रही कि भीड़ ने उस जेल को घेर लिया था, जिसमें ये बंद थे। जिसके बाद लोगों के गुस्से को देखते हुए 23 मार्च 1931 की रात को ही भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को फांसी दे दी गई थी। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष विजय सिंह,विपिन गुप्ता, शिव किशोर प्रजापति, नाजिम शाह, सत्यम यादव, मोहम्मद अली आदि सदस्य मौजूद रहे। संस्था के साथ मिलकर विजय सिंह द्वारा क्षेत्र में की जा रही समाज सेवा को देखते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित वाजपेयी ने उन्हें प्रतीक चिंह व प्रस्वस्ति पत्र देकर उन्हें सम्मानित किया।

    फ़ैयाज़ उद्दीन
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.