Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    वर्ल्ड हेरिंग डे पर महाविद्यालय में गोष्ठी का आयोजन किया गया

    वर्ल्ड हेरिंग डे पर महाविद्यालय में गोष्ठी का आयोजन किया गया

    शाहजहाँपुर| वर्ल्ड हेरिंग डे के उपलक्ष्य में पंडित राम प्रसाद बिस्मिल स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय, शाहजहांपुर के चिकित्सालय प्रांगण  के सभागार कक्ष में गोष्ठी का आयोजन कान, नाक, गला विभाग द्वारा किया गया। प्रवक्ता, सहायक आचार्य पूनम ओमर ने बताया कि अच्छा सुनना एक सफल समाज के लिए अति आवश्यक है। जिंदगी के हर पहलू में अच्छा और बेहतर सुनाई पड़ने से मनुष्य के काम और सामाजिक दायित्वों की पूर्ति अच्छी तरह से हो पाती है। बहरेपन और कान की अन्य बीमारियों को कुछ सावधानियाँ बरत खुद को बचाया जा सकता है।


    1. कान की सुनाई की जांच नियमित रूप से करानी चाहिए। 

    2. तेज आवाज के संपर्क में आने से बचना चाहिए। 

    3. अगर किसी को ऐसा महसूस होता है कि दूसरे की कही  बात कम समझ में आ रही है तो तुरंत परामर्श नाक कान गला विशेषज्ञ से लेना चाहिए। यथासमय इलाज मिलने पर परेशानी का निदान संभव है। 

    4. बच्चों का कान अगर बहना शुरू हो जाए तो जल्द से जल्द उसका इलाज शुरू करवाये क्यूँकि बहुत दिनो तक कान बहने से सुनने की क्षमता कम हो जाती है तथा पढ़ाई मे अरुचि होना शरू हो जाती है। 

    5. बुजुर्ग जन के कम सुनाईं पड़ने पर वह अपने आसपास के लोगों से अलग हो जाते है और कई बार इसके कारण व्याधियों का भी शिकार हो जाते है। यथासमय उनको सुनाई की मशीन का प्रयोग कर इन समस्याओं से भी बचा  जा सकता  है।

    हम सभी यह प्रण करे कि अपने आसपास के लोगों सुनने से सम्बंधित परेशानियों से बचाएंगे और बहरेपन से मुक्ति दिलाएगे। उपरोक्त सभा में उपप्रधानाचार्या डॉ0 नीरा, वरिष्ठ चिकित्सक डॉ0 जय प्रकाश सिंह, डॉ0 मनीष दिवाकर, डॉ0 सुमित, डॉ0 आशीष, डॉ0 श्वेता समेत अन्य संकाय सदस्य उपस्थित रहे।

    फ़ैयाज़ उद्दीन
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.