Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पहले किया देश का नाम रोशन और बन गई एशिया की दूसरी महिला कराटे गोल्ड मेडलिस्ट

    पहले किया देश का नाम रोशन और बन गई एशिया की दूसरी महिला कराटे गोल्ड मेडलिस्ट

    महिला दिवस विशेष....

    अब दे रही है महिलाओं और बच्चियों को निःशुल्क आत्मरक्षा की ट्रेनिंग

    बैतूल|  वह दिन गए जब बेटियों को बोझ समझ जाता था| आज बेटियां हर कदम पर जमाने से कदम से कदम मिलाकर डटकर मुकाबला कर रही है हम बात कर रहे मध्यप्रदेश के बैतुल की बेटी अंतर्राष्ट्रीय कराटे गोल्ड मेडलिस्ट  प्रियंका (चोपड़े )सोनकपुरिया जिन्होंने  देश के लिए गोल्ड जीत कर एशिया की दूसरी महिला कराटे गोल्ड मेडलिस्ट  बनी और बैतूल जिले का नाम पूरे एशिया में रोशन किया है|

    प्रियंका ने साल 2017 में आगरा में आयोजित हुए  स्कूल गेम्स फेडरेशन ऑफ़ इंडिया टूर्नामेंट  में  देश के लिए खेलकर  ब्राजील और चायना की खिलाड़ीयों डायनी गूंज और रिंग ही हेन को 2 मिनट में एक तरफा शिकस्त देकर गोल्ड मैडल देश के नाम किया और प्रियंका का सपना है कि ओलम्पिक में देश के लिए गोल्ड लायेगी और आजतक अपने इंटरनेशनल के सर्टिफिकेट के लिए भटक रही है|

    आप सब जानते ही है कि किस तरह इस बेटी ने इतने संघर्षो के बावजूद भी हिम्मत नही हारी और शादी के बाद भी उसके परिवार के सपोर्ट से आज वो शिवाजी स्पोर्ट्स अकैडमी के माध्यम से जुड़ी बच्चियों को महिला के प्रति अपराधों से कैसे बचाये और कैसे आत्मरक्षा की जाए इसका प्रशिक्षण दे रही है।

    आपको बता दें कि देश की इस बेटी ने अपने सर्टिफिकेट के लिए हर अधिकारी और मंत्रालय तक अपनी बात पहुँचाई है पर आज तक इसे अपना इंटरनेशनल का सर्टिफिकेट नही मिला इसने तो अपना गोल्ड मैडल तक मध्यप्रदेश में जब कांग्रेस की सरकार थी|

     पूर्व मुख्यमंत्री को जन्मदिन पर लौटाने तक भोपाल पहुँच गई थी पर वहाँ भी इसे सिर्फ एक आश्वासन मिला और कुछ नही आज ये  बेटी अपने हुनर का उपयोग सेवा भाव से कर रही है और आये दिन हो रहे महिला अपराधों से बचने के गुर महिलाओं और बच्चीयों को आत्मरक्षा कैसी करनी है इसकी ट्रेनिंग दे रही है। ऐसी नारी शक्ति को महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

    शशांक सोनकपुरिया
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, बैतूल, मध्यप्रदेश

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.