Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बिजली बिल सही कराने गये पत्रकार के साथ जेई ने की अभद्रता, पत्रकार महकमे को दे डालीं गालियां

    बिजली बिल सही कराने गये पत्रकार के साथ जेई ने की अभद्रता, पत्रकार महकमे को दे डालीं गालियां

    मिश्रित/सीतापुर| त्रुटि पूर्ण बिल को सही कराने के लिए विद्युत उपकेंद्र पर गये एक पत्रकार का बिल सही करना तो दूर उल्टे समाचारों के प्रकाशन से बौखलाये जेई ने पत्रकार के साथ अभद्रता ही नहीं की बल्कि संपूर्ण पत्रकार जगत को अपमानित करते हुए गालियां दे डाली। ज्ञातव्य हो, यहां नगर के मो.सीताकुंड वार्ड नं. 1 निवासी पत्रकार चंद्रशेखर तिवारी विद्युत विभाग द्वारा भेजे गये बिल को लेकर सही कराने और धनराशि जमा करने के लिए आज यहां के पावर हाउस पर गए थे । बताते चलें कि इसके पहले भी बकाया विद्युत बिल का 6 हजार  बीते 21 अक्टूबर को जमा भी कर चुके है । यह जमा धनराशि भी विद्युत बिल में समांयोजित नहीं की गई है । पुनः बिल में 45 हजार 6 सौ 33 रुपये दर्शाए जाने को लेकर ही पत्रकार बिल सही कराने के लिए विद्युत उपकेंद्र पर गया था । उपभोक्ता द्वारा अपने को पत्रकार बताये जाने से जे ई अमरीष कुमार आग बबूला हो गये । बिल में संशोधन और समांयोजन करने के बजाय पत्रकार को अपशब्द कहते हुए अपमानित करने लगे । वहां मौजूद लोगों ने बताया कि जे ई की अशिष्टता उनके सर चढ़कर इस कदर बोल रही थी ।  कि उन्होंने पत्रकार जगत को अशिष्ट गालियां देने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी । लोगों ने बीच-बचाव करके पत्रकार को वहां से हटाया।


    जेई के हाथों अपमानित हुए पत्रकार ने मुख्यमंत्री के जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत सं. 40015 421015121 पर दर्ज कराकर निरंकुश जे ई के विरुद्ध कार्यवाही किए जाने की मांग की है । मांमले की जांच प्रदेश के ऊर्जा विभाग के जिम्मेदारों को सौंपी गई है । पत्रकार को लेकर जे ई की बौखलाहट के विषय में आपको बता दें कि बीते महीने क्षेत्र के मछरेहटा रोड रेलवे क्रासिंग के आगे बिना किसी प्रस्ताव और कार्य स्वीकृत के इन्हीं अवर अभियंता ने 11हजार विद्युत लाइन के खंभे एक प्रापर्टी डीलर के इशारे पर भारी सुविधा शुल्क लेकर पुराने स्थान से हटाने नए स्थान पर लगवाने का कार्य किया था|  विभिन्न समाचार पत्रों और वेब पोर्टल पर धड़ल्ले से समांचार चला और प्रकाशित हुआ था। जिससे मुंह की खाये जेई ने नए स्थान पर लगवाए गए विद्युत खंभों को एक बार फिर उखड़वाकर पुराने स्थान पर लगवाने हेतु मजबूर होना पड़ा था। यही कारण है कि जेई पत्रकारों से खुन्नस खाए हुये है और उनके यहां मीटर रीडिंग के बजाय मनमाने विद्युत बिल भेजकर उत्पीड़न करने पर तुले हुए है|

    संदीप चौरसिया, मिश्रिख

    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, सीतापुर, उत्तरप्रदेश

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.