Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    साहसिक मुठभेड मे गुमशुदा छात्र की हत्या करने वाले 03 शातिर अभियुक्त गिरफ्तार

    साहसिक मुठभेड मे गुमशुदा छात्र की हत्या करने वाले 03 शातिर अभियुक्त गिरफ्तार

    हत्या में प्रयुक्त हसिया सहित 03 तमंचे व कारतूस/खोखा करातूस बरामद

    शाहजहाँपुर| मंगलवार को थाना सदरबाजार पर अशोक कुमार सिहं पुत्र रामसरन सिहं नि0 पिपरी खुर्द थाना कटरा जिला शाहजहाँपुर की लिखित सूचना पर मु0अ0सं0 222/21 धारा 302/201 भादवि वनाम अभियुक्त गण सनी वर्मा पुत्र भगवानदास मो0 आतिशवाजान कस्बा कटरा, शाहजहाँपुर , योगेश उर्फ अभिषेक पुत्र दयाराम मोर्य नि0 मो0 अफरीदी थाना कटरा,शाहजहाँपुर, आशीष पुत्र पप्पू राठोर नि0 मो0 कायस्थान कस्बा व थाना तिलहर, शाहजहांपुर द्वारा वादी के पुत्र हरिओम उम्र 20 वर्ष की हत्या कर देने के संबंध मे पंजीकृत कराया गया है । उक्त प्रकरण मे वादी मुकदमा अशोक कुमार उपरोक्त द्वारा अपने पुत्र हरिओम की दिनांक 19.3.21 को जीएफ कालेज से गुम हो जाने के संबंध मे थाना सदरबाजार पर जी0डी0 नं0 34 दिनांक 20.3.21 को गुमशुदगी दर्ज की गयी है| एस.आनन्द पुलिस अधीक्षक शाहजहांपुर के निर्देशानुसार  संजय कुमार,अपर पुलिस अधीक्षक नगर के पर्वेक्षण एंव प्रवीण कुमार क्षेत्राधिकारी नगर के निर्देशन मे मुकदमा उपरोक्त के सफल अनावरण हेतु की गयी कार्यवाही मे थाना सदर बाजार पुलिस टीम को बड़ी सफलता हासिल हुई।

    दिनांक 24.3.21 को थाना सदर बाजार पुलिस को मुखबिर खास द्वारा सूचना मिली कि छात्र की हत्या में पंजीकृत अभियोग में नामित अभियुक्तगण सनी वर्मा योगेश उर्फ अभिषेक आशीष उपरोक्त कही बाहर भागने की फिराक में है यदि जल्दी करेगें तो पकडे जा सकते है , उक्त सूचना पर पुवायां रोड फायरिंग वट के पास कच्चा रास्ते पर पहुंचकर दविश दी गयी तो अभियुक्त गण ने अपने पास लिये अवैध तमन्चो से पुलिस टीम पर फायर किया, जिसमे पुलिस पार्टी द्वारा साहस व सिकलाये तरीकों से अपने बचाव करते हुये फायरिंग की गयी तथा आवश्यक बल प्रयोग कर उपरोक्त तीनो अभियुक्त गण को समय करीब 02.45 बजे दिन गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त गण से दौराने गिरफ्तारी 01-01 तमन्चा देशी मय कार0 के बरामद किये गये तथा मुकदमा उपरोक्त की घटना के संबंध मे पूछताछ की गयी तो अभियुक्त सनी वर्मा ने पूछने पर बताया कि मेरी ममेरी बहन नि0 पिंगरी पिंगरा थाना तिलहर शाहजहाँपुर के साथ पीछले 2 वर्षो से प्रेम प्रसंग चल रहा है । मै एसएस कॉलेज शाहजहाँपुर मे LLB प्रथम वर्ष का छात्र हुँ तथा ममेरी वहन एस एस कॉलेज मे LLB तृतीय समैस्टर की छात्रा है। ममेरी वहन की क्लास मे उपरोक्त हरीओम पढ़ता था, जिसके द्वारा मेरी ममेरी वहन के साथ कई बार छेडखानी की गयी, जिसकी शिकायत ममेरी वहन ने मुझ से की थी, परन्तु मैने ममेरी वहन  को शान्त कर दिया की मै हरिओम को समझा दूगां । दिनांक 18.3.21 को मै अपने दोस्त योगेश के साथ परीक्षा का प्रवेश पत्र लेने के लिया गया था जहाँ ममेरी वहन भी आयी थी, मैने अपना प्रवेश पत्र ले लिया,  परन्तु ममेरी वहन  की फार्म की रसीद खो जाने के कारण उसका प्रवेश पत्र नही मिला, तभी हमे वहाँ पर हरिओम मिल गया, जिसने बताया कि मै यहाँ सिनियर हुँ तुम्हे प्रवेश पत्र दिला दूगां और ममेरी वहन  को साथ लेकर चला गया। जिसने कॉलेज परिसर मे ही ममेरी वहन को बूरी नियत से पीछे से पकड़ लिया, जिससे ममेरी वहन  काफी नराज हो गयी, परन्तु प्रवेश पत्र लेने के कारण हरिओम से कुछ नही कहा तथा प्रवेश पत्र लेकर मेरे व योगेश उर्फ अभिषेक के पास आयी और परेशान हालत मे रोती हुई हरिओम द्वारा की गयी छेड़छाड के बारे मे बताया तथा कहने लगी की यदि तुम मुझसे सच्चा प्यार करते हो तो  मै हरिओम को नही देखना चाहती हुँ । मै ममेरी वहन से बहुत प्यार करता था तो मुझे ममेरी वहन  का रोना बर्दाश्त नही हुआ और मैने ममेरी वहन  से वादा किया की मै हरिओम से बदला लेने के बाद ही तुमसे शादी करुगा। उसी दिन मैने कटरा वापस आने के बाद अपने दोस्त योगेश उर्फ अभिषेक व अपने साथी आशीष के साथ हरिओम को मारने की योजना बनायी तथा योजना के अनुसार नहर के किनारे मैरेना गांव के जंगल मे सुनशान जगह पर सरसो के खेत मे हसिया रख दिया और हम तीनो दिनांक 19.3.21 को जीएफ कालेज पर परीक्षा देने के लिये आये और हरिओम से फोन पर बात करके उससे कॉलेज के गेट पर मिले तथा परिक्षा देने के उपरान्त कॉलेज गेट पर ही हरिओम से मिले और योजना के तहत मैने हरिओम से बताया की आज मेरा जन्म दिन है चलो कहीं कटरा क्षेत्र के जंगल मे एकान्त मै बैठकर पार्टी करते है । हम हरिओम को साथ लेकर बस मै बैठकर कटरा से पहले मैरेना गांव के जंगल मे नहर पटरी पर उतर कर पैदल पैदल खेत के पास पहुंच गये, जहाँ पर मेरे साथी योगेश उर्फ अभिषेक व आशीष ने हरिओम के हाथ पकड़ कर नीचे लिटा दिया और मैने हसिया से हरिओम के गले पर वार कर दिया फिर मैने दो तीन बार ओर वार किया और हरिओम तड़प कर मर गया| हमने फिर हरिओम की लाश को खीच कर पास मे ही सरसो के खेत मे ले जाकर डाल दिया तथा हसिया को वही घास मे छुपा दिया। अभियुक्त सनी वर्मा की निशानदेही पर घटना मे प्रयुक्त हसिया को बरामद किया गया तथा अभियुक्त गण के विरूद्ध मु0अ0सं0 224/21धारा 307 भादवि बनाम सनी वर्मा ,योगेश उर्फ अभिषेक,आशीष व मु0अ0सं0 225/21 धारा 3/25 शस्त्र अधि0 बनाम सनी वर्मा, मु0अ0सं0 226/21 धारा 3/25 शस्त्र अधि0 बनाम योगेश उर्फ अभिषेक , मु0अ0सं0 227/21 धारा 3/25 शस्त्र अधि0 बनाम आशीष के पंजीकृत किये गये।गिरफ्तार अभियुक्तगण के विरुद्ध थाना सदरबाजार पर विधिक कार्यवाही कर माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है।

    फ़ैयाज़ उद्दीन
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.