Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    साहसिक मुठभेड में अन्तर्राज्यीय चोरो के गैंग का पर्दाफाश, 03 शातिर चोर गिरफ्तार

    साहसिक मुठभेड में अन्तर्राज्यीय चोरो के गैंग का पर्दाफाश, 03 शातिर चोर गिरफ्तार 

    चोरी के आभूषणों, नगदी व चोरी मे प्रयुक्त वाहन एवं अवैध असलाहे बरामद

    शाहजहाँपुर| एस. आनन्द पुलिस अधीक्षक शाहजहाँपुर द्वारा जनपद में क्राइम समीक्षा में चोरी की घटनाओं को रोकने व घटित हुई घटनाओं के अतिशीघ्र अनावरण करने सम्बन्ध में  संजीव कुमार वाजपेयी अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण के निर्देशन ,परमानन्द पाण्डेय क्षेत्राधिकारी तिलहर के पर्यवेक्षण में एस.ओ.जी. व थाना तिलहर की संयुक्त टीम द्वारा साहसिक मुठभेड में अन्तर्राज्जीय चोरों के गैग का पर्दाफाश करते हुये  चोरी के आभूषणों, नगदी व चोरी मे प्रयुक्त वाहन एवं अवैध असलाहो के साथ 03 शातिर चोरों को गिरफ्तार किया गया। एस.ओ.जी. व थाना तिलहर की संयुक्त टीम को मिली मुखबिर खास की सूचना पर पुलिस मुठभेड के बाद नेशनल हाईवे पर ऐरा कम्पनी के पहले केतन के खाली बन्द पडे होटल में चोरी की योजना बनाते चोरो का गैंग रात्रि 01.10 बजे पर गिरफ्तार कर अभियुक्तगण के कब्जे से चोरी किये गये आभूषणों, घटना में प्रयुक्त स्क्टी नं0 DL5SCP3583  व सैन्टरो कार नं0 DL3CAQ5620, अवैध तमन्चा कारतूस व खोखा कारतूस के साथ गिरफ्तार किया गया। अभियुक्तगण द्वारा दिनांक 15.02.2021 को दिन में वरुण अर्जुन मेडिकल कालेज में डा0 निलेश दोषी पुत्र स्व0 रमणलाल दोषी निवासी वरुण अर्जुन मेडिकल कालेज क्वार्ट नं0 1 ब्लाक A बंथरा थाना तिलहर जनपद शाहजहाँपुर जिसके सम्बन्ध में थाना तिलहर पर अपराध सं0 95/2021 धारा 380/454 भादवि पंजीकृत है व दिनांक 18.02.2021 को सन्नी गुप्ता पुत्र नरेशचन्द्र गुप्ता नि0मो0 दातागंज कस्बा व थाना तिलहर जनपद शाहजहाँपुर के मकान में रात्रि में जिसके सम्बन्ध में थाना तिलहर पर अपराध सं0 101/2021 धारा 380/457 भादवि पंजीकृत है तथा दिनांक 25.02.2021 को जमील अहमद पुत्र मंसूर अहमद नि0मो0 मौजमपुर कस्बा व थाना तिलहर जनपद शाहजहाँपुर रात्रि में जिसके सम्बन्ध में थाना तिलहर पर अपराध सं0 123/2021 धारा 380 भादवि  पंजीकृत है में चोरीयो की है।

    अभियुक्तगण के कब्जे से उक्त घटनाओ में चोरी किये गये आभूषणों के बरामद होने पर अभियोगो में धारा 411 भादवि की वृद्धि की गई तथा चोरी की योजना बनाते हुए गिरफ्तारी के दौरान पुलिस पार्टी पर जान से मारने की नियत से फायर करने एवं कब्जे से नाजायज अस्लाह व खोखा कारतूस एवं जिन्दा कारतूस बरामद होने पर अपराध सं0 142/2021 धारा 307/401 भादवि व अपराध सं0 143/2021 धारा 3/25/27 A.ACT, अपराध सं0 144/2021 धारा 3/25/27 A.ACT , अपराध सं0 145/2021 धारा 3/25/27 A.ACT पंजीकृत कर अभियुक्तगण को न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है। 

    अभियुक्त शकील ने पूछताछ पर बताया कि मैं पिछले 20-25 वर्षो से चोरीयाँ कर रहा हूँ अब तक मैने सैकडो चोरीयाँ की होगी। कुछ ही चोरी में मैं पकडा गया हूँ। हम सभी मिलकर सुवह 6 बजे के लगभग कार एवं स्क्रूटरी से निकल जाते है और जब शहरो में लोग अपने मकानो से 10 बजे ऑफिस एवं काम पर चले जाते है जिन घरो के ताले बन्द होते है। हम दो लोग स्क्रूटरी से बन्द कालोनी एवं फ्लैट में अन्दर चले जाते है और 5-7 मिनट के अन्दर बाहर का ताला तोडकर अन्दर रखी सैफ/अलमारी के ताले उखाडकर मकान से केवल जेबर व नगदी चोरी कर लेते है। अन्य किसी सामान को नही चुराते है। स्क्रूटरी से अच्छे कपडे पहनकर अन्दर जाने में कालोनी के गार्ड लोकल समझकर रोकते नही बन्द कालोनीयो में अन्दर जाना आसान होता है। स्क्रूटरी से दो आदमी अन्दर चले जाते है बाकी दो आदमी गाडी में बैठकर नजर रखते है। ऐसे ही दिन में स्क्रूटरी से मोहल्ले में घूमकर मकान में घूसने निकलने का रास्ता देखकर जिनमें आसानी से घुस व निकल सकते है रात्रि के समय उन मकानो में दो आदमी अन्दर घुस जाते है बाकी बाहर गाडी में इन्तेजार करते है। अभियुक्त मैनुउद्दीन उर्फ मीनू ने बताया कि अब से करीब तीन वर्ष पहले रोडवेज बस से लखनऊ में तारीख पर जाते समय मैने रोहेलखण्ड मेडिकल कालेज को देखा था तभी मैने इसमें अच्छे मकान व बिल्डिंग अच्छी होने के कारण अंदाजा लगा लिया था कि यहाँ अच्छे पैसे वाले लोग रहते है। इसमें चोरी करने पर अच्छा खासा जेबर नकदी मिल सकता है। इसी लिए हमने गाजियबाद मेरठ से इतनी दूर आकर चोरीयाँ की है। अभियुक्तगण ने बताया कि हम लोग दिल्ली के थाना मडाली में वर्ष 1998 में, न्यू अशोक नगर दिल्ली में वर्ष 2003 में, सरिता बिहार दिल्ली में वर्ष 2004 में, थाना मेडिकल मेरठ में वर्ष 2010 में, थाना इन्दरपुरम गाजियाबाद में वर्ष 2011 में व  थाना उस्मानपुर दिल्ली में वर्ष 2013 में , थाना मोदीनगर गाजियाबाद में वर्ष 2018 में चोरीयो में जेल गये है तथा थाना भोजपुर गाजियाबाद में वर्ष 2002 में गोकसी में और गोकुलपुरी दिल्ली में वर्ष 2007 में हत्या में जेल गये है।  अभियुक्त मैनुउद्दीन ने बताया कि लखनऊ में थाना मडियाव का भी धारा 414 भादवि के मुकदमा में मुल्जिम है।  

    फ़ैयाज़ उद्दीन
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.