Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अवैध खनन को लेकर कृषि मंत्री के तीखे तेवर, कहा- दोषियों को नही छोड़ा जाएगा, सब पर होगी कार्यवाही

    अवैध खनन को लेकर कृषि मंत्री के तीखे तेवर, कहा- दोषियों को नही छोड़ा जाएगा, सब पर होगी कार्यवाही

    बैतुल/मध्यप्रदेश|  के बैतुल में एक दिवसीय प्रवास पर आये कृषि मंत्री कमल पटेल ने नर्मदा में अवैध उत्खनन को लेकर लगातार बयान देते रहे कृषि मंत्री कमल पटेल ने बैतूल में मीडिया से चर्चा के दौरान अवैध खनन को लेकर बेबाकी से अपनी बात कही। उन्होंने कहा कि  नरसिंहपुर जिले से मेरे पास पत्रकारों ने सरपंच और गांव के लोगो ने वीडियो भेजे थे कि यहां नर्मदा जी मे मशीने चल रही है।

    पोकलेन और पानी से पनडुब्बी के जरिए रेत निकाली जा रही है उन्होंने घाटों के नाम भी भेजे थे। उस समय मैंने नरसिंहपुर कलेक्टर से कहा जब में दिल्ली में था कि तत्काल मौके पर जाकर छापा मारो और जो भी दोषी हो उनके खिलाफ कार्यवाही करो और एफआईआर दर्ज कराओ। दूसरे दिन जब मैने कलेक्टर से पूछा क्या कार्यवाही हुई है तो उन्होंने कहा कि मैं अभी टीम बनाऊंगा तो मेरे द्वारा कहा गया कि आदेश का पालन क्यो नही हुआ इसका मतलब कही ना कही मिली भगत है। 

    मंत्री श्री पटेल ने आगे कहा कि कार्यवाही नही होने के बाद मैंने कमिश्नर को पत्र लिखा कि आप बाहर से संभाग की एक टीम भेज कर जांच कराइये क्योकि अवैध खनन के खिलाफ कार्यवाही नही हुई है। ठेकेदार कितना बड़ा हो अवैध खनन में लिप्त अधिकारी हो या कर्मचारि उनके खिलाफ भी कार्यवाही होगी। खनिज अधिकारी, इंस्पेक्टर, तहसीलदार या एसडीएम इन सबकी जिम्मेदारी है कि अवैध काम नही होने चाहिए। 

    *******

    पत्र में क्या लिखा..

    मंत्री कमल पटेल ने पत्र में लिखा कि मेरे द्वारा कलेक्टर नरसिंहपुर को 17 फरवरी को तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए गए थे, लेकिन कलेक्टर ने कोई कार्रवाई नहीं की है. नर्मदा में लगातार अवैध उत्खनन जारी है.जिला प्रशासन कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है. कमल पटेल ने यह भी लिखा है कि यह साफ है कि अवैध उत्खनन जिला प्रशासन की मिली भगत के बिना संभव नहीं है. प्रशासनिक अधिकारी जिनका दायित्व है कि वह अवैध उत्खनन के खिलाफ कार्रवाई करे, उनके द्वारा कार्रवाई न करने से अवैध उत्खनन लगातार बढ़ता जा रहा है. कमल पटेल ने आगे लिखा है कि अवैध खनन को रोकने के लिए जिला नरसिंहपुर के जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ तत्काल अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाए. अवैध खनन करने वाले वाहनों को राजसात किया जाए. रेत के ठेकेदार द्वारा अवैध उत्खनन किया जा रहा है, उनके ठेके निरस्त भी किए जाएं और उनके ऊपर रासुका भी लगाई जाए।

    शशांक सोनकपुरिया
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, बैतूल, मध्यप्रदेश

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.