Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गाँवों मे भी तैयार होगी शतरंज के खिलाड़ियो की नर्सरी- अजय मिश्रा

    गाँवों मे भी तैयार होगी शतरंज के खिलाड़ियो की नर्सरी- अजय मिश्रा

    जलालाबाद के मालूपुर गॉव से हुई उत्तर प्रदेश शतरंज खेल

    संघ के महत्वाकांक्षी चैस इन स्कूल प्रोग्राम के तहत हुई कार्यशाला

    शाहजहांपुर। उत्तर प्रदेश शतरंज खेल संघ द्वारा ग्रामीण क्षेत्रो के खिलाड़ियो और स्कूली बच्चों के लिये चलाये जा रहे महत्वाकांक्षी प्रोग्राम स्कूल इन चैस कार्यक्रम की शुरुआत उत्तर प्रदेश शतरंज खेल संघ के संयुक्त सचिव अजय कुमार मिश्रा द्वारा जलालाबाद तहसील के ग्राम मालूपुर के सरकारी विद्यालय में की गई। संयुक्त सचिव अजय कुमार मिश्रा का स्वागत शाहजहांपुर शतरंज खेल संघ के सचिव विपिन कुमार अग्निहोत्री व विद्यालय के प्रधानाचार्य नरेंद्र पाल सिंह व ग्राम सभा के प्रधान ने पुष्पगुच्छ देकर किया। तत्पश्चात स्वामी विवेकानंद जी के चित्र के सम्मुख पुष्पांजलि अर्पित कर  कार्यक्रम प्रारंभ हुआ। इस दौरान मालूपुर गांव के आसपास गांव के बच्चों के समक्ष शतरंज खेल क्या है इसके क्या फायदे हैं इस पर चर्चा की गई। खेल संघ के संयुक्त सचिव  अजय कुमार मिश्रा ने कहा उत्तर प्रदेश शतरंज खेल संघ की एक महत्वपूर्ण योजना के तहत ग्रामीण बच्चों को शतरंज खेल की मुख्य धारा से जोड़ने का कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इस महत्वाकांक्षी योजना के तहत जलालाबाद तहसील में मालूपुर गांव के सरकारी विद्यालय में एक शतरंज कार्यशाला का आयोजन किया गया।

    जिसमें बच्चो को शतरंज खेल सिखाने के साथ साथ शतरंज के महत्व और शतरंज खेलने से होने वाले लाभों के बारे में भी विस्तृत चर्चा की गई। इस क्रम में श्री मिश्र ने बताया कि  शतरंज खेलने से विद्यार्थियों की न केवल गणित मज़बूत होती है बल्कि शतरंज खेलने से बच्चो में समय प्रबंधन, तनाव प्रबंधन और विपरीत परिस्थितियो का सफलता पूर्वक सामना करने की क्षमता जैसे अनेक गुण विकसित होते है। उन्होंने कहाँ की वर्तमान प्रतियोगिता के दौर में शतरंज के माध्यम से बच्चो के सर्वांगीण विकास की प्रासंगिता और बढ़ गयी है अतः उत्तर प्रदेश शतरंज संघ अध्यक्ष डॉ. संजय कपूर व  सचिव अनिल कुमार रायजादा के नेतृत्व मे अपने दायित्व का निर्वहन करते हुए शतरंज के माध्यम बच्चो के व्यक्तित्व का सर्वांगीण विकास करने को कृत संकल्पित है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश शतंरज संघ की जिला इकाइयां अपने अपने जिलों मे खिलाड़ियो की नर्सरी तैयार करे, और उन्हें जो भी जरूरत होगी उसकी व्यवस्था की जाएगी।

    लेकिन इस कार्यक्रम के तहत हर स्कूल के प्रत्येक बच्चे तक शतरंज की जानकारी होनी चाहिये। इसके बाद छात्रों को बोर्ड व खेलने के नियम भी बताए गए एव उनके द्वारा ग्रामवासियों से शतरंज खेल पर बात की गई। अंत मे जिला शतरंज खेल संघ के सचिव विपिन अग्निहोत्री ने उत्तर प्रदेश शतरंज खेल संघ के सयुक्त सचिव अजय मिश्रा को शाल उढ़ाकर सम्मानित किया। इस दौरान राजन द्विवेदी, अनिल अग्निहोत्री, वतन भारद्वाज, लकी वर्मा, सुचित आदि सहित दर्जनों ग्रामवासी उपस्थित रहे।


    फ़ैयाज़ उद्दीन
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.