Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    महंगाई के दौर ने पेट्रोल की बढ़ती कीमतों से परेशान विद्युतकर्मी ने बना डाली जुगाड़ बाइक

    महंगाई के दौर ने पेट्रोल की बढ़ती कीमतों से परेशान विद्युतकर्मी ने बना डाली जुगाड़ बाइक
    (7 रुपये में चलती है 35 किमी,6 घंटे चार्ज करने में खर्च होती है 1 यूनिट बिजली)
    बैतूल। मध्यप्रदेश के बैतूल में अभी एक लाइनमेन की जुगाड़ बाइक चर्चाओं में है । प्रदूषण रहित और बिना पेट्रोल से चलने वाली इस बाइक को देखने बिजली आफिस आ रहे है। अगर आपसे कोई यह बोले कि मात्र 7 रुपये में 35 किलोमीटर बाइक चल सकती है तो आपको आश्चर्य होगा लेकिन यह हकीकत है , और यह कारनामा बैतूल के उषाकांत डिगरसे से नामक व्यक्ति ने कर दिया है । उषाकांत डिगरसे को बाइक चलाने में  महंगे पेट्रोल की झंझट से छुटकारा मिल गया है।
    दरअसल बैतूल के बिजली विभाग में लाइनमैन के पद पर पदस्थ उषाकान्त डिगरसे ने अपनी 18 साल पुरानी बाइक को इलेक्ट्रिक बाइक में तब्दील कर दिया है । उषा कांत ने इस बाइक में 12-12 वोल्ट की 4 बैटरी लगाकर उसमें कंडेनसर लगाकर एक पानी की  मोटर लगाई है जिससे यह बाइक अब शानदार तरीके से चलने लगी है ।
    उषाकान्त का कहना है कि उनके पास एक 18 साल पुरानी बाइक थी जिसका रजिस्ट्रेशन भी खत्म हो गया था उसे अगर कबाड़ में भेजते तो बहुत कम पैसे मिलते इसके अलावा पेट्रोल के दामों में लगातार वृद्धि हो रही थी ।।इसी को लेकर उन्होंने अपनी बाइक में 28 हजार रुपये खर्च करके उसे इलेक्ट्रिक बाइक बना दिया है । 6 घंटे चार्ज करने के बाद यह बाइक 35 किलोमीटर चलती है । चार्ज करने में एक यूनिट बिजली खर्च होती है पहले जहां उन्हें बाइक चलाने में 80 से ₹100 दिन का खर्च आता था अब उन्हें दो से ढाई हजार रुपए महीने की बचत होने लगी है।
    उषाकान्त अपने गांव से अपने ऑफिस इसी बाइक से आते हैं साथ में दयाराम पवार जो बिजली विभाग में नौकरी करते हैं उनको भी साथ में लाते हैं । दयाराम पवार का कहना है कि इस इलेक्ट्रिक बाइक से जहां पेट्रोल के खर्च की बचत हो रही है वही प्रदूषण का झंझट भी खत्म हो गया है अगर नई इलेक्ट्रिक बाइक खरीदने जाते तो वह 90 हजार से एक लाख रुपए के बीच में आती ।

    बैतूल से शशांक सोनकपुरिया की खास रिपोर्ट


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.