Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या: श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए चलाए गए समर्पण निधि में 21 हजार करोड़ की धनराशि ट्रस्ट के खाते में हुई जमा

    अयोध्या: श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए चलाए गए समर्पण निधि में 21 हजार करोड़ की धनराशि ट्रस्ट के खाते में हुई जमा
    (विदेशों में रहने वाले रामभक्त भी इस अभियान शामिल हो सके, इसके लिए जल्द ट्रस्ट की अगली बैठक में निर्णय लिया जाएगा)
    अयोध्या। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की धर्म नगरी अयोध्या में  राम मंदिर का निर्माण हो इसके लिए  हर कोई उत्सुक दिखाई पड़ रहा है। ट्रस्ट द्वारा चलाए गए अभियान में  महंगाई  बेरोजगारी को दरकिनार करते हुए  बड़ी संख्या में राम भक्तों ने  बढ़-चढ़कर समर्पण निधि  अभियान में अपना सहयोग दिया है। इसी बात से  साबित हो जाता है कि  जो समर्पण निधि आई है  वह एक मिसाल है। राममंदिर निर्माण के लिए मकर संक्रांति से देश भर में चल रहे  42 दिवसीय निधि समर्पण अभियान मे आखिरी दिन अब तक 2100 करोड़ धनराशि ट्रस्ट के खातों में पहुंच चुका है । अब विदेशों में रहने वाले राम भक्त भी इस अभियान शामिल हो सके इसके लिए जल्द ट्रस्ट की अगली बैठक में निर्णय लिया जाएगा।
     श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविन्ददेव गिरी ने  बताया कि राम मंदिर निर्माण के लिए चलाए गए निधि समर्पण अभियान  मे आज तक  पूरे देश में व्यापक स्तर चलाये गए अभियान में देश के सभी जाति व वर्ग के साथ गरीब परिसर भी जुड़ सके।
    इसके लिए रसीद के साथ 10 , 100 व 1000 रुपये का कूपन जारी किया गया था। जिसको लेकर अब तक 2100 करोड़ की धनराशि ट्रस्ट के खाते में जमा हो चुका है।
    ट्रस्ट केे कोषाध्यक्ष गोविन्ददेव गिरी ने  बताया कि अभी भी बड़ी संख्या में चेक और कैश जमा होने हैं ,क्योंकि और 2 दिन बैंक बंद है ऐसे में अभी और भी धन रामलला के निमित्त आना बाकी है। राम मंदिर निर्माण में देश के ही नही बल्कि विदेश में रहने वाले राम भक्त भी शामिल हो सके।
    जिसके लिए जल्द ही राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा समर्पण अभियान को बढ़ाया जा सकता है।ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंद देव गिरी के मुताबिक विदेशों रहने वाले लोग इस अभियान की चलाये जाने का दबाव बना रहे हैं। लेकिन इसका निर्णय ट्रस्ट के द्वारा ही लिया जा सकता है।
    देव बक्श वर्मा, अयोध्या।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.