Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    जिला पंचायत कार्यालय पर मुख्य विकास अधिकारी ने जड़ा ताला ,चाभी ले गये अपने साथ

    जिला पंचायत कार्यालय पर मुख्य विकास अधिकारी ने जड़ा ताला ,चाभी ले गये अपने साथ

    बलिया| उत्तर प्रदेश के बलिया शहर में जिला पंचायत कार्यालय पहुंचकर मुख्य विकास अधिकारी द्वारा कार्यालय पर ताला लगाकर चाभी अपने साथ ले जाने का मामला प्रकाश में आया है। इसकी जानकारी होते ही जिला पंचायत अध्यक्ष सुधीर पासवान और पंचायत के सदस्य कई ब्लॉक प्रमुख कार्यालय पहुंच गए।

    इस घटना से आहत होकर जिला पंचायत अध्यक्ष सुधीर पासवान ने इस्तीफा देने की धमकी  दे डाली , और कहां कि मैं एक दलित परिवार से आता हूं इसलिए मेरे साथ भेदभाव होता आया है। प्रशासन के लोग भी सत्ता के दबाव में हमारे.पर हमेशा ही दबाव बनाया  मैं किसी तरह अपने कार्य काल पूरा करने लगा.रहा.। इसी.बीच मेरे कार्य काल समाप्त होने के दो दिन पूर्व C.D.O द्वारा की गई  कार्रवाई से चकित हूँ।अचानक इस घटना ने सबको  अचंभित कर दिया है।

    कार्य काल पूरा कर ही रहा था कि अचानक हमारे कार्यकाल खत्म होने के  पूर्व ही मुख्य विकास अधिकारी ने मेरे कार्यालय पर ताला जड़कर मेरी और मेरी प्रतिष्ठा को आघात पहुंचाया है। जिससे मैं काफी दुखी हूं   मेरे पर जो आरोप लगाया गया है , कि कार्यालय में फर्जी भुगतान हो रहा था तो, वहां ना तो इंजीनियर थे और नाहीं अपर  साहब ना ही मैं फिर कैसे  भुगतान हो सकता है । जिला पंचायत अध्यक्ष सुधीर पासवान ने आरोप को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि आरोप बिल्कुल बेबुनियाद है।

    कानूनी सलाह लेने के पद त्यागने की घोषणा विधिवत करुंगा।उक्त बाते जिलापंचायत के अध्यक्ष सुधीर पासबान ने अपने कार्यालय में पत्रकारों के बीच अपने विचार व्यक्त कर रहे थे।उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि राजनैतिक कार्यकर्ता के रुप मुख्य विकासधिकारी और जिलाधिकारी कार्य कर रहे हैं ।उन्होंने एक अन्य प्रश्न के उत्तर में आरोप लगाया कि समाजवादी पार्टी का कार्यकर्ता होने के कारण सत्ता परिवर्तन के साथ हमारा बहुत सारा उत्पीड़न किया जाने लगा,कई अविश्वास प्रस्ताव भी मेरे खिलाफ लाया गया,जिसे हमने सपा के सिपाही के हैसियत से फेस किया।आज प्रातः करीब साढे़ दस बजे सिटी मजिस्ट्रेट नागेंद्र सिंह अचानक जिलापंचायत कार्यालय पहुंचे और ताला खुलवा दिया। उन्होंने स्पष्ट कहा कि न ताला बन्दी की अधिकारिक सूचना हमेँ दी गई और ना ही ताला खुलवाने का संज्ञान कराना जिला प्रशासन ने जरूरी समझा। ऐसी घटना से हम आहत है।

    नगर मजिस्ट्रेट नागेन्द्र सिंह ने कहा कि मेरे द्वारा सीडीओ के मौखिक आदेश के अनुपालन ताला खुलवाने की कारर्वाई की गयी।इस लिए इस सम्बन्ध में मै किसी तरह की जानकारी देने के लिए अधिकृत नहीं हूं।उनके साथ ब्लाक प्रमुख संजय यादव, जिला पंचायत सदस्य शैलेश यादव सहित अन्य सम्मानित सदस्य मौजूद रहे।

    आसिफ जैदी
    आई एन ए न्यूज़ बलिया



    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.