Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    माँ-बच्चे के लिए वरदान बनी प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, माँ को मिला पोषण तो वहीं बच्चे को मिला जीवन दान

    माँ-बच्चे के लिए वरदान बनी प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, माँ को मिला पोषण तो वहीं बच्चे को मिला जीवन दान

    जनपद की 61,000 महिलाओं को मिला इस योजना का लाभ

    शाहजहांपुर| प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की शुरुआत जनवरी, 2017 से  देश भर में गर्भवती एवं स्तनपान कराने वाली महिलाओं के कल्याण के लिए प्रधानमंत्री द्वारा की गई थी।  योजना के अंतर्गत पहली बार माँ बनाने वाली गर्भवती  प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ लेने के लिए पात्र मानी गई हैं। इसके तहत तीन किश्तों में 5000 रूपये मिलते हैं | योजना का लाभ पाने के लिए जरूरी है कि महिला की उम्र 19 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए।  महिला सरकारी कर्मचारी नहीं होनी चाहिए |  किसी अन्य कानून से लाभ पा रही प्राइवेट कर्मचारी या फिर पहले सभी किस्तें पा चुकी महिला को इसके लाभ से वंचित रहना होगा।



    लाभार्थी पूजा देवी पत्नी लालाराम निवासी गाँव बरीख़ास ब्लाक मदनापुर ने बताया कि मेरी शादी 3 वर्ष पूर्व हुई थी|  पति लालाराम ईंट भट्टे पर मेहनत मजदूरी का कार्य करते है | आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है दैनिक मजदूरी से ही परिवार का पालन पोषण होता है | डेढ़ वर्ष पूर्व जब  गर्भवती हुई तो मेरी पड़ोसी आशा मनोरमा देवी ने  पंजीकरण ए.एन.एम के पास कराया और  टीका लगवाया तभी ए.ए.एम द्वारा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के विषय में जानकारी दी | उसके बाद मुझे फॉर्म भरने के लिए जरुरी कागजों के साथ अस्पताल जाने को कहा गया | फार्म भरने में मेरी मदद आशा द्वारा की गयी | कुछ दिन बाद मेरे खाता में 3000 रूपये की पहली किश्त आयी |  जिसको अपने खान पान के लिए खर्च में लिया | आशा द्वारा संस्थागत प्रसव के लिए अस्तपाल लेकर गयी | जिसके हमको 1400 रूपये मिले जोकि मैंने प्रसव प्रसव पश्चात अपनी देखभाल और खान पान के लिए खर्च कर लिए | उसके कुछ दिन बाद मेरा बेटा  बलराम बीमार पड़ गया | उसको कई बार मदनापुर अस्पताल से दवा दिलाने के बाद कुछ आराम मिला | फिर एक दिन उसकी हालत बहुत खराब हो गई | और उसके कान से पानी आने लगा  और फिर उसे बाहर  निजी डॉक्टर को दिखने के लिए पैसे नहीं थे | तभी अचानक उसके मोबाइल पर एक संदेश आया जिसमें 1000 रूपये उसके खाता में आये | जिसको देखकर लालाराम ने पूजा को बताया कि शायद प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना वाले पैसे आये हैं | फिर मैंने दूसरे दिन बैंक जाकर पैसे निकले उन्ही पैसों से मैंने अपने बच्चे का इलाह कराया इस तरह से मेरे लिए तो यह योजना बरदान सबित हुई | उसकर एक माह बाद 1000 रूपये और मिले |

    लालाराम ने बताया कि इस योजना से मिले पैसे से अपनी पत्नी के खान पान के साथ साथ अपने बच्चे के इलाज पर खर्च किये है | अगर उस समय यह पैसा न मिलता तो न जाने क्या  होता | मेरे बच्चे को इस पैसे ने जीवन दिया है | मेरे लिए बरदान साबित हुई योजना  | इसमें आशा के साथ बीसीपीएम गौरव कुमार और प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ . भारती  का भी बहुत सहयोग रहा है| भुवनेश कुमार दीक्षित जिला कार्यक्रम समन्वयक ,प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना ने बताया  इस योजना की सेवाओं में जनपद शाहजहांपुर मंडल में प्रथम स्थान पर है | उन्होंने बताया कि जनपद का लक्ष्य 1 जनवरी 2017 से जनवरी  2021 तक 65294 लाभार्थियों को लाभान्वित  करना था जिसके सापेक्ष जनवरी 2021 तक 61126 लाभार्थियों को लाभान्वित  किया जा चुका है |

    फ़ैयाज़ उद्दीन, शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.