Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    मकरसंक्रांति पर संस्कार भारती बिसवां द्वारा कवि गोष्ठी का आयोजन

    मकरसंक्रांति पर संस्कार भारती बिसवां द्वारा कवि गोष्ठी का आयोजन

    सीतापुर| मकरसंक्रांति के अवसर पर संस्कार भारती बिसवां इकाई द्वारा बाबा छोटे लाल बाल विद्यालय रामा भारी में कवि गोष्ठी का आयोजन किया गया| जिसकी अध्यक्षता पद्म कांत शर्मा प्रभात नेकी व संचालन गीतकार संजय सांवरा ने किया. बाराबंकी से फ्री लता श्रीवास्तव ने मां शारदा की वंदना की. वरिष्ठ कवि कमलेश मौर्य मृदु ने जनमानस को सचेत करते हुए कहा

    चौदह उन्निस में बंट जाते तो होती अयोध्या अभी झगड़े में.

    एकता टूटे न ये अब भी मथुरा और काशी पडे लफड़े में.


    उत्तराखंड से हास्य कवि श्रीपाल मिश्र ने सभी को जमकर हंसाया-

    पति से ऊंचा है प्रेमी का स्थान.

    क्योकि प्रेमी वह स्वयं चुनती है और पति उसका पिता चुनता है.

    बाराबंकी के ओज कवि ओपी वर्मा ओम ने राष्ट्रीय चेतना जगाई तो लता श्रीवास्तव ने श्रृगार के गीत सुना कर वाहवाही लूटा| वही अनिल श्रीवास्तव लल्लू ने सबको हंसा हंसा कर लोटपोट कर दिया. वही घनश्याम शर्मा ने जीवन की सत्यता को उद्घाटित किया . . 

    जीवन का संदेश न भूलो ममता मद का त्याग करो.

    परम सत्य है जो जीवन का उस प्रभु से अनुराग करो.

    श्री राजेश बाजपेयी प्रसून ने संक्रांति पर समरसता का संदेश दिया-

    समरसता का शुचि भाव पनपाने हेतु अधरों पर एकता का मंत्र होना चाहिए. 

    कार्यक्रम अध्यक्ष पद्म कांत प्रभात ने प्रेरक काव्य पाठ किया-

    मीत अपने कभी छोडे नहीं जाते.

    रुख कभी गंतव्य के मोड़े नहीं जाते.

    इसके अतिरिक्त अरुण गंवार, सुशील यादव, दीपक दिवाना, आनंद खत्री, विजय रस्तोगी, ओम मौर्य आदि कवियों ने काव्य पाठ कर कवि गोष्ठी को ऊंचाइयां प्रदान की.  विद्यालय के अध्यक्ष खुशी राम मौर्य व प्रधानाध्यापक अश्विनी श्रीवास्तव ने सभी का स्वागत किया व आयोजक कमलेश मौर्य मृदु ने आभार प्रकट किया. लोकगीतकार अरुण गंवार जी को  उनके 48 वे जन्मदिन पर सभी ने बधाइयाँ दीं. इस अवसर पर गन्ना पर्यवेक्षक योगेन्द्र मौर्य, संतश्री सियाराम बाजपेयी, दाता राम वर्मा , देवकी नंदन मौर्य की उपस्थिति उल्लेखनीय है. 

    इससे पूर्व केजारीवाल वर्मा व इंजीनियर आर के वर्मा के निर्देशन मे वैदिक यज्ञ संपन्न हुआ. विद्यालय के सह व्यवस्थापक  रामनरेश मौर्य, अनिल मौर्य व दीपू चौहान , मधूकांत मौर्य व सुभाष यादव, रमेश यादव के सहयोग से समरसता खिचड़ी भोज संपन्न हुआ।

    शरद कपूर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.