Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या रेलवे स्टेशन पर चल रहा कोयला डिपो स्थाई रूप से बंद

    अयोध्या रेलवे स्टेशन पर  चल रहा  कोयला डिपो  स्थाई रूप से बंद

    अप्रैल माह से  बिल्हार घाट रेलवे स्टेशन पर होगा कोयला अनलोड 

    अयोध्या| मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की धर्म नगरी अयोध्या के विकास के लिए  युद्ध स्तर  पर प्रयास चल रहा है  वहीं पर अयोध्या रेलवे स्टेशन को गरिमा के अनुरूप राम मंदिर की शक्ल में भव्यता देने के लिए  हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं ! उसी क्रम में  अयोध्या में चल रहे   कोयला साइडिंग को हटा दिया गया जहां पर  प्रति माह  15 से 20  रेलगाड़ी   कोयला आता था और अब अप्रैल माह तक बिल्हार घाट रेलवे स्टेशन पर कोयला अनलोड का काम शुरू होगा|


      अयोध्या जंक्शन  को उसके गरिमा के रूप में तैयार किया जा रहा है. राम नगरी के स्टेशन का बाहरी हिस्सा मंदिर के स्वरूप में होगा. श्रद्धालुओं को धर्म नगरी होने की अनुभूति कराएगा. इसके लिए बाकायदा स्टेशन के विस्तारीकरण का काम युद्ध स्तर पर चालू है. अब इसी क्रम में बरसों से अयोध्या में चल रहा कोयला डिपो स्थाई रूप से बंद किया गया है. कोयला डिपो का स्थानांतरण बिल्हर घाट रेलवे स्टेशन के पास किया जा रहा है. अयोध्या में लगातार स्थानीय स्तर पर भी कोयला डिपो का विरोध होता रहा है, परंतु अभी तक इसको हटाया नहीं जा सका था. अब रेलवे स्टेशन को ही रिमॉडलिंग करने के दरमियां अयोध्या से कोयला डिपो को पूर्ण रूप से हटा दिया गया है. इतना ही नहीं कोयला साइडिंग पर अनलोड करने के लिए रेलवे की पटरियां जो बनाई गई थीं उनको भी युद्ध स्तर पर हटाया जा रहा है और अब रेलवे स्टेशन का विस्तारीकरण तेजी के साथ किया जा रहा है|

    अयोध्या के दौरे पर आए डीआरएम ने भी कोयला डिपो को हटाकर के कोयला साइडिंग के लिए अलग स्थान पर शिफ्ट करने के आदेश दिए थे. इस क्रम में अयोध्या के सांसद लल्लू सिंह भी काफी लंबे समय से सक्रिय रहे और आज इस कोयला साइडिंग को पूर्ण रूप से अयोध्या के रेलवे स्टेशन से हटा दिया गया है| अयोध्या के सांसद लल्लू सिंह  के अनुसार कोयला साइडिंग को अयोध्या के रेलवे स्टेशन के विस्तारीकरण के दरमियां हटाया जाना  था इसलिए रेलवे बोर्ड के द्वारा वहां से कोयला डिपो को बंद किया गया है.  हमारा प्रयास है कि स्थानीय लोगों को अधिक से अधिक सुविधा दी जा सके. पूर्व में चल रही सभी ट्रेनों को चलाया जाए और आने वाले समय में नई ट्रेनें भी चलाई जाएं.

     कोयला साइडिंग की व्यवस्था बिल्हर घाट रेलवे स्टेशन पर की गई है. अप्रैल माह तक कोयला अनलोड होना बिल्हार घाट रेलवे स्टेशन पर प्रारंभ हो जाएगा.  प्रत्येक माह में 15 से 18 गाड़ियां कोयला की अयोध्या पहुंचती थीं. बिल्हरघाट रेलवे स्टेशन पर भी कोयला अनलोड होने की व्यवस्थाएं बहुत ही सुचारू हैं. नई व्यवस्था रेलवे प्रशासन ने की है. अब आगामी कोयले के अनलोडिंग का कार्य बिल्हार घाट रेलवे स्टेशन पर अप्रैल माह से प्रारंभ हो जाएगा|

    देव बक्श वर्मा अयोध्या

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.