Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    ट्रेन से कटकर युवक के शरीर के हुये दो हिस्से, 24 घण्टे के बाद ज़िन्दगी से हार गया जंग

    ट्रेन से कटकर युवक के शरीर के हुये दो हिस्से, 24 घण्टे के बाद ज़िन्दगी से हार गया जंग

    शाहजहाँपुर। थाना रोजा क्षेतर के ग्राम हथौडा बुजुर्ग के एक युवक ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या का प्रयास किया। जानकारी मुताबिक युवक हर्षवर्धन टैक्सी ड्राइवर था । क्षेत्र में फैले अवैध जुआ सट्टा शराब के कारोबार में पड़ गया और उसको तीनों नशे लग गये जुआ, सट्टा खेलने के साथ साथ वह नशा का भी आदी हो गया । सोमवार को उसने ट्रेन से कटकर आत्महत्या का प्रयास किया । ट्रेन से कटकर उसका शरीर दो हिस्सों में बंट गया। लेकिन फिर भी वह जीवित रहा। मालगाडी के ड्राइवर ने ट्रेन से कटे युवक को जीवित देखा तो उसने रेलवे को मेमो दिया । तो पुलिस ने मौके पर जाकर युवक को ईलाज के लिये अस्पताल भेजा ।



    पुलिस अधीक्षक नगर संजय कुमार ने बताया कि थाना रोजा अंतर्गत हथौड़ा गांव में रहने वाला युवक हर्षवर्धन (26) किसी विद्यालय में टैक्सी चलाता है। उन्‍होंने बताया कि सुबह हथौड़ा स्टेडियम के पीछे रेलवे लाइन पर दिल्ली से लखनऊ जा रही एक ट्रेन से वह कट गया। उन्होंने बताया कि इसी बीच लखनऊ की ओर से आई मालगाड़ी के ड्राइवर ने दोनों लाइनों के बीच में धड़ पड़ा देखा तो कंट्रोल रूम को सूचना दी। इसी बीच पुलिस ने पहुंचकर देखा तो युवक पड़ोस में ही गढ्ढे के पानी में पड़ा था तथा कह रहा था कि ''हमें बचा लो साहब हमने आत्महत्या की है। युवक के नाभि के नीचे के भाग के पास से दो टुकड़े हो गए हैं और उसके शरीर का एक हिस्‍सा रेलवे लाइन से घिसट कर गढ्ढे के पानी में चला गया जिससे उसका रक्तस्राव रुक गया। पुलिस ने युवक को मेडिकल कॉलेज में इलाज के लिए भेजा है जहां डॉक्टरों की टीम की निगरानी में उसका इलाज किया जा रहा है। राजकीय मेडिकल कॉलेज के आपातकालीन प्रभारी चिकित्‍साधिकारी डाक्‍टर मोहम्‍मद मेराज ने बताया था । कि दो हिस्सों में कटे युवक का धड़ कमर की हड्डी से 10 सेंटीमीटर नीचे से कटा है और उसका लीवर किडनी समेत सभी अंग सुरक्षित हैं। और अब तक तीन यूनिट ब्लड चढ़ाया गया। डाक्टर ने युवक को बचाने के लिये काफी ईलाज व प्रयास किया । लेकिन युवक लगभग कई घण्टा जीवित रहने के बाद धड से अलग हुये दूसरे दिन मंगलवार को युवक की सांसे जबाव दे गयी। और युवक की मृत्यु हो गयी । युवक की मृत्यु से परिवार में कोहराम मच गया ।

    फ़ैयाज़ उद्दीन, शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.