Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पिपराइच एवं मुण्डेरवा बनी प्रदेश की प्रथम सल्फरलेस चीनी उत्पादन करने वाली चीनी मिलें

    पिपराइच एवं मुण्डेरवा बनी प्रदेश की प्रथम सल्फरलेस चीनी उत्पादन करने वाली चीनी मिलें
    गोरखपुर। उ.प्र. राज्य चीनी निगम लि. की चीनी मिलों क्रमशः पिपराइच जिला गोरखपुर एवं मुण्डेरवा जिला बस्ती द्वारा अपने स्रोतों से पेराई सत्र 2019-20 का किया गया शत- प्रतिशत गन्ना मूल्य का भुगतान। सल्फरलेस प्लाण्ट की स्थापना से उच्च गुणवत्ता की चीनी का उत्पादन सुनिश्चित होगा तथा इसके विक्रय से चीनी का और अधिक मूल्य प्राप्त होने से गन्ना मूल्य का भुगतान भी समय से किया जा सकेगा।
    देश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा पूर्वान्चल क्षेत्र में किसानों को पुनः गन्ना खेती हेतु पे्ररित कर आर्थिक रूप से समृद्ध बनाने के आदेशों के क्रम में, प्रदेश के आयुक्त, गन्ना एवं चीनी, श्री संजय आर. भूसरेड्डी ने बताया कि उ.प्र. राज्य चीनी निगम लि., के अधीन नव-निर्मित चीनी मिलें क्रमशः पिपराइच जिला गोरखपुर एवं मुण्डेरवा जिला बस्ती संचालित हैं। इन चीनी मिलों की पेराई क्षमता 5000 टी.सी.डी. है तथा इनमें 27 मेगावाट कोजन प्लाण्ट की स्थापना भी की गयी है।

     श्री भूसरेड्डी ने बताया कि नव स्थापित चीनी मिल पिपराइच का लोकार्पण मा. मुख्यमंत्री द्वारा किया गया था। चीनी मिल द्वारा अपने प्रथम पेराई सत्र में अपनी पूर्ण क्षमता पर कार्य करते हुए कुल 45.33 लाख कुन्तल गन्ने की पेराई कर   4.33 ला.कु. चीनी का उत्पादन किया गया है। इसके अतिरिक्त मिल में स्थापित 27 मेगावाट कोजन प्लाण्ट से 31569 मेगावाट विद्युत का उत्पादन कर ृ1404 लाख का राजस्व भी अर्जित किया गया है। गन्ना कृषकों के व्यापक हितों को देखते हुए चीनी मिल द्वारा अपने स्रोतों से पेराई सत्र 2019-20 के कुल देय गन्ना मूल्य ृ14523.01 लाख का शत-प्रतिशत भुगतान कर दिया गया है। इस चीनी मिल में भारत सरकार के एथेनाॅल ब्लैन्डिंग कार्यक्रम के अन्तर्गत 120 के.एल.पी.।

    अमित कुमार सिंह
    गोरखपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.