Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या: आनलाईन ठगी के बड़े गिरोह का पर्दाफाश, चार गिरफ्तार

    अयोध्या: आनलाईन ठगी के बड़े गिरोह का पर्दाफाश, चार गिरफ्तार

    अयोध्या। पुलिस ने आनलाईन ठगी करने के बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया है। गिरोह के मुखिया ने ठगी करके पटना में करोड़ो की सम्पत्ति बना ली है। विदेश से पैसा आने की बात कहकर गरीबों का खाता खोलते थे। जिसमें एजेन्ट को पांच से दस हजार तथा खाता खोलने वाले को पांच हजार रुपये ठग देते थे। इस खाते का इस्तेमाल यह आनलाईन ठगी के लिए करते थे। पुुलिस ने गिरोह के मुखिया समेत चार सदस्यों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की।





    पुलिस को सर्विलांस की मद्द से सूचना मिली कि आनलाइन ठगी करने वाला गिरोह पोस्टमार्टम हाउस के पास खड़ा है। पुलिस ने यहां से रहमान उर्फ सुल्तान उर्फ अजीजुल रहमान उर्फ गामा निवासी पथरा थाना माझांगढ़ जिला गोपालगंज बिहार, अजय सिंह उर्फ गुड्डू सिंह निवासी जगदीश बनकटा थाना- बनकटा जनपद-देवरिया, दिलीप महतो उर्फ दीपू निवासी रतन सराय, जाफर टोला थाना व पोस्ट- बरौली जिला गोपालगंज बिहार, रामायन पुत्र स्व0 लाल बचन निवासी वेलही गोईता टोला थाना कटेया जिला गोपालगंज बिहार को गिरफ्तार किया। इनके पास कई बैंको के खाते रजिस्टर व इंटरनेट बैकिंग के यूजरनेम व पासवर्ड मिले। गिरोह के सदस्यों ने पूछताछ में बताया कि इसके लिए गरीबों यह बताते हुए खाता खुलवाते है कि सउदी से जो पैसा आयेगा वह टैक्स बचाने के लिये आपके खाते में भेजा जायेगा। इसके लिए पांच हजार खाता धारक को पांच से दस हजार एजेन्ट को देते थे। खाता खुलवाने के बाद एटीएम पासबुुक, नेटबैंकिंग का यूजरनेम व पासवर्ड अपने पास रख लेते थे। जिसके बाद आनलाइन लाटरी, पेटीएम, केवाईसी आदि माध्यमों से ठगी करके पैसा खातो में पहुंचाते थे।ं जिन व्यक्तियों को बहकाकर खाता खुुलवाया जाता था उन्हीं से आधार कार्ड व अन्य पहचान पत्र लेकर फर्जी सिम भी प्राप्त कर लेते थे। जिससे गैंग पुलिस की नजरों से बचा रहता था। खाते में ठगी की सूचना पर बैंक द्वारा उसे फ्रीज कर दिया जाता था। जिससे बड़े पैमाने पर खाते की आवश्यकता गैंग को होती थी। इन खातों को सलमान, जियाउल, जुनैल, शेख हसमुल्ला, जाफर उर्फ इमाम, सहादत हुसैन अंसारी, आजम, जुबैर रहमान आदि को दे दिया जाता था। यही लोग नार्मल काल व व्हाट्सऐप काल आदि माध्यम से काल करके आम जनता को केबीसी/लाटरी, एटीएम कार्ड ब्लाक होने की गलत सूचना आदि के नाम पर गुमराह कर ठगी करते है। दिलीप महतो निवासी गोपालगंज बिहार में मोबाइल की दुकान संचालित करता है, दुकान में आने वाले ग्राहको का सिम कार्ड एक्टीवेशन के दौरान ही ग्राहको को बिना जानकारी के पेटीएक/गूगल/फोनपे एकाउन्ट बना कर साइबर ठगी के लिये बेच देता था, तथा उक्त ग्राहको की आईडी से कूटरचना कर प्रपत्र तैयार कर मोबाइल कनेक्सन निकलवाता था तथा फर्जी खातों में ओटीपी, पासवर्ड हेतु सिम उपलब्ध कराता है। उक्त लोग गिरोह बनाकर कार्य करते है सभी का कार्य बटा हुआ होता है। पुलिस ने बताया कि गिरोह सरगना रहमान उर्फ सुल्तान उर्फ गामा द्वारा साइबर ठगी कर करोड़ों की सम्पत्ति अर्जित की गयी है, जिसका चिन्हीकरण किया जा रहा है जिसमें मुख्य रुप से लगभग चार करोड की लागत से फुलवारी सरीफ पटना में अलीशान मकान का निर्माण किया गया है। फरार अभियुक्त के बिरुद्ध अभियान चलाकर गिरफ्तारी सुनिश्चित की जायेगी।

    देव बक्श वर्मा

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.