Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    भारतीय अंतरराष्ट्रीय विज्ञान फिल्म पुरस्कार समारोह को संबोधित करेंगे अमिताभ बच्चन और शेखर कपूर

    भारतीय अंतरराष्ट्रीय विज्ञान फिल्म पुरस्कार समारोह को संबोधित करेंगे अमिताभ बच्चन और शेखर कपूर नई दिल्ली (इंडिया साइंस वायर)| इंटरनेशनल साइंस फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया (आईएसएफएफआई) का 6वां संस्करण कई मायनों में अभूतपूर्वहै।आईएसएफएफआई के आरंभ से लेकर अब तक पहली बार दुनियाभर से सर्वाधिक फिल्म प्रविष्टियां इस बार के आयोजन के दौरान मिली हैं।अब सदी के महानायक अमिताभ बच्चन समेत प्रसिद्ध फिल्मकार शेखर कपूर और माइक पांडेयजैसी नामचीन हस्तियां इंटरनेशनलसाइंस फिल्म फेस्टिवलके पुरस्कार समारोह को संबोधित करने जा रही हैं। इससे यह आयोजन और अधिक खास हो गया है। यह पुरस्कार समारोह 25 दिसंबर, 2020 को ऑनलाइन रूप से आयोजित किया जाएगा। इंटरनेशनल साइंस फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया (आईएसएफएफआई) का आयोजन हर वर्ष आयोजित होने वाले इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल (आईआईएसएफ) के एक प्रमुख घटक के रूप में किया जाता है। आईआईएसएफ का आयोजन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी), वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर), पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय, जैव प्रौद्योगिकी विभाग (डीबीटी), भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) तथा विज्ञान भारती द्वारा संयुक्त रूप से किया जाता है।


    इस बार विज्ञान महोत्‍सव का समन्‍वय सीएसआईआर द्वारा किया जा रहा है। इस मेगा आयोजन के लिए नोडल एजेंसी के रूप मेंनई दिल्‍ली स्थित सीएसआईआर-नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ साइंस, टेक्‍नोलॉजी ऐंड डेवलपमेंट स्‍टडीज (निस्टैड्स) कार्य कर रहा है। जबकि, आईआईएसएफ के अभिन्न अंग इंटरनेशनल साइंस फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया (आईएसएफएफआई) का समन्वयन डीएसटी की स्वायत्त संस्था विज्ञान प्रसार द्वारा किया जा रहा है। विज्ञान प्रसार के निदेशक डॉ नकुल पाराशर ने कहा है कि “यह आयोजन इस बार अधिक मजबूती के साथ अपने वैश्विक स्वरूप में उभरकर आया है। दुनियाभर के 60 देशों से मिली 634 फिल्मों की प्रविष्टियां इसका सशक्त प्रमाण हैं। भारत के अलावा यूके, इज़राइल, जर्मनी और नीदरलैंड जैसे देशों के विज्ञान फिल्मकार और विशेषज्ञ इस फिल्म फेस्टिवल के दौरान आयोजित होने वाली समूह परिचर्चाओं और फिल्म निर्माण से जुड़ी मास्टर क्लासेज को संबोधित कर रहे हैं।इसके अलावा, दुनियाभर से मिली विज्ञान फिल्में ऑनलाइन रूप से इस फिल्म फेस्टिवल के दौरान प्रदर्शित की जा रही हैं। जर्मनी केप्रसिद्ध मीडिया संस्थानडायचे वेले और डिस्कवरी चैनल की भी इस आयोजन में सहभागिता रही है।” इंटरनेशनल साइंस फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया (आईएसएफएफआई) के प्रधान संयोजक और विज्ञान प्रसार के वरिष्ठ वैज्ञानिक निमिष कपूर ने बताया कि “इस बार दुनियाभर से मिली फिल्म प्रविष्टियों में से 32 देशों की 209 फिल्मों को फिल्म फेस्टिवल में शामिल किया गया है। इन फिल्मों में विज्ञान वृत्तचित्र, लघु फिल्में और एनिमेशन वीडियो शामिल हैं।भारत के अलावा, स्विट्जरलैंड, इज़राइल, चिली, फ्रांस, बेल्जियम, आस्ट्रिया, अफगानिस्तान, ईरान, चीन, स्पेन, तुर्की, नीदरलैंड, जर्मनी, यूनाइटेड किंगडम, ताइवान जैसे देशों की फिल्में इस आयोजन में शामिल हुई हैं।” उन्होंने बताया कि 25 दिसंबर को इस चार दिवसीय फेस्टिवल के आखिरी दिन उत्कृष्ट फिल्मों को दिए जाने वाले पुरस्कारों की घोषणा शेखर कपूर और माइक पांडेय जैसे मशहूर फिल्मकारों द्वारा की जाएगी। आईआईएसएफ की वेबसाइट www.scienceindiafest.orgपर पंजीकृत ईमेल से लॉगिन करके फिल्म फेस्टिवल के पुरस्कार समारोह में ऑनलाइन रूप से शामिल हो सकते हैं। इस प्लेटफॉर्म पर ऑन स्पॉट पंजीकरण भी उपलब्ध है। प्लेटफॉर्म पर प्रवेश करने के बाद “Science for Masses” सेक्शन में जाकर साइंस फिल्म फेस्टिवल से जुड़ा जा सकता है। आईएसएफएफआई का आयोजन हर साल विज्ञान को फिल्मों के माध्यम से आम लोगों तक पहुँचाने के उद्देश्य से किया जाता है। कोविड-19 के कारण यह आयोजन इस बार अपने वर्चुअल स्वरूप में आयोजित किया गया है। इस फिल्म फेस्टिवल का उद्घाटन 22 दिसंबर को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने किया था।

    (इंडिया साइंस वायर)


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.