Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गीता प्रेस: कल्याण का हैंडलिंग चार्ज होगा खत्म, मुख्यमंत्री योगी ने संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद को लिखा पत्र

    गीता प्रेस: कल्याण का हैंडलिंग चार्ज होगा खत्म, मुख्यमंत्री योगी ने संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद को लिखा पत्र

    डाक विभाग बिजनेस पोस्ट मानकर हर प्रति पर लेता है 2.70 रुपये, 2019 में 59.57 लाख तो जनवरी 2020 में दिया गया 61.26 लाख रुपये

    गोरखपुर| गीता प्रेस की मासिक पत्रिका 'कल्याण' पत्रिका पर लगने वाला हैंडलिंग चार्ज डाक विभाग वापस ले सकता है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद को पत्र लिखा है। बताते हैं कि इस बाबत संचार मंत्रालय ने हैंडलिंग चार्ज खत्म करने के लिए डाक विभाग को निर्देशित किया है।


    कल्याण का प्रकाशन 1926 से गीता प्रेस द्वारा किया जा रहा है। हर वर्ष जनवरी में पहला अंक विशेषांक छपता है। कल्याण के करीब 1.75 लाख मासिक पाठक हैं। जनवरी 2019 से डाक विभाग ने कल्याण को बिजनेस पोस्ट मानते हुए वीपीपी पोस्ट के अतिरिक्त 2 रुपये 70 पैसे अतिरिक्त चार्ज लेना शुरू कर दिया। गीता प्रेस प्रबंधन ने काफी कोशिश की लेकिन उसका कोई परिणाम नहीं निकला। नतीजतन वर्ष 2019 में 59.57 लाख रुपये अतिरिक्त डाक विभाग को देने पड़े तो 2020 में 61.26 लाख का भुगतान करना पड़ा। जनवरी में फिर कल्याण के विशेषांक का प्रकाशन होना है। इसे देखते हुए गीता प्रेस प्रबंधन ने मुख्यमंत्री से 24 नवम्बर को मिलकर हैंडलिंग चार्ज खत्म करने या डाक विभाग द्वारा स्टाफ बढ़ाकर निर्धारित समय में डिस्पैच पूरा करने का आग्रह किया था। मुख्यमंत्री ने इस मामले में गीता प्रेस को आश्वासन दिया था कि वे संचार मंत्रालय से इस बाबत आग्रह करेंगे।



    मुख्यमंत्री ने इस सम्बंध में केन्द्रीय संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद को पत्र लिखकर सहानुभूति पूर्वक विचार करने का आग्रह किया है। एक दिसम्बर को लिखे पत्र में योगी ने कहा है कि कल्याण के करीब पौने दो लाख पाठक हैं। पोस्ट आफिस के माध्यम से यह पाठकों तक भेजा जाता है। कल्याण मासिक पत्र को कभी भी बिजनेस पोस्ट के अन्तर्गत नहीं माना जाता रहा है। इसलिए इस पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करते हुए उचित कार्यवाही कराने का कष्ट करें।


    बताते हैं कि मुख्यमंत्री द्वारा संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद को पत्र लिखने के बाद यह संभावना बन रही है कि जनवरी में कल्याण के नए विशेषांक के डिस्पैच से पहले ही हैंडलिंग चार्ज समाप्त होने का आदेश आ सकता है। मुख्यमंत्री द्वारा पत्र लिखे जाने के बाद डाक विभाग की टीम ने पिछले शनिवार को गीता प्रेस और गीता प्रेस स्थित डाकघर का भी निरीक्षण किया है।

    ********************

    इस बार गणेश पुराण पर आधारित होगा विशेषांक......


    कल्याण का विशेषांक इस बार गणेश पुराण पर आधारित होगा। पिछले वर्ष करीब पांच सौ पेज का विशेषांक छपा था। इस बार करीब साढ़े छह सौ पेज का विशेषांक होगा। इसके लिए कोई अतिरिक्त चार्ज नहीं लिया जाएगा। दिसम्बर के अंत तक छपकर तैयार हो जाएगा।


    गीता प्रेस लागत मूल्य पर पुस्तकें उपलब्ध कराता है। कल्याण के विशेषांक पर हैंडलिंग चार्ज लगने से बजट पर असर पड़ता है। हैंडलिंग चार्ज न लगे, इसके लिए मुख्यमंत्री और संचार मंत्री से आग्रह किया गया है। डाक विभाग द्वारा इस बाबत निरीक्षण किया गया है।

                           - डॉ. लालमणि तिवारी उत्पाद प्रबंधक, गीता प्रेस


    अमित कुमार सिंह

    गोरखपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.