Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    भारत सरकार के आयुष मंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी के प्रतिनिधि को सौंपा

    भारत सरकार के आयुष मंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी के प्रतिनिधि को सौंपा

    बलिया। आयुष मेडिकल एसोसिएशन भारत की स्थानीय इकाई के अध्यक्ष लाल बहादुर कुशवाहा के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने आर्य वैद्य जी आयुर्वेद शैल्य एवं शालाक्य तंत्र के हंसना तो पर डिग्री धारकों को सर्जरी का अधिकार प्राप्त होने के बावजूद बार-बार आई एम ए के चिकित्सकों द्वारा आयुर्वेद चिकित्सकों का विरोध किया जाना न्याय संगत नहीं है जिसकी जितनी भी निंदा की जाए कम है।





     भारत सरकार के आयुष मंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी के प्रतिनिधि को सौंपते हुए चिकित्सकों ने तत्काल आई एम ए की गतिविधियों पर रोक लगाए जाने और आयुर्वेदिक चिकित्सकों की स्थिति स्पष्ट करने की मांग की है। पत्रक सपने से पूर्वशान्ति आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज के संस्थापक डॉ अरविंद तिवारी ने बताया कि अनादि काल से प्राचीनतम चिकित्सा पद्धति आयुर्वेद और यूनानी रही है जिसे 500 वर्ष पूर्व लिपिबद्ध किया गया है इसे आम लोगों के स्वास्थ्य की रक्षा करने वाली समग्र शिक्षा पद्धति हूं. मैं आर्वेद को चिकित्सा जननी के रूप में पहचान दी जा चुकी है।

     उन्होंने आईएमए के चिकित्सकों से अपील की है कि वे ऐसी टिप्पणी ना करें जिससे चिकित्सकों की मर्यादा का उल्लंघन हो। इस अवसर पर डॉ श्याम नंदन मिश्रा डॉक्टर केडी पांडे डॉ० दीनानाथ शर्मा संतोष लाल श्रीवास्तव डा० सतीश उपाध्याय डॉ० एसी यादव,डा० जफर आलम डॉ० कुलदीप नारायण पांडे,डा० डॉक्टर फिरोज फारुकी, डॉ० विनय कुमार सिंह डा०विनोद कुमार पांडे डा०अरुण प्रसाद सिंह डॉ० रामदेव केसरी डॉ० अजमत अमीन डॉ सादिक अंसारी डॉ० अशोक कुमार शर्मा डॉ० आर प्रसाद डॉ० तुलसीराम दीनानाथ पांडे डॉ० जमील अहमद डॉ०भगवती पांडे डॉ० विनय कुमार सिंह, आदि ज्ञापन सौंने वालों में शामिल रहे।


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.