Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शहर में अवैध रूप से चल रहा हुक्का बार

    शहर में अवैध रूप से चल रहा हुक्का बार
    हाल ही में खुली एक होटल में मिल युवाओं का जमावड़ा
    लाईसेंस जारी नहीं फिर भी धड़ल्ले से चल रहा बार
    राजनांदगांव। जिले सहित शहर में अवैध शराब का कारोबार फलफूल रहा है. इसी बीच अब युवाओं में नशा का नया पैटर्न आ गया है. युवा पीढ़ी हुक्का बार पर नजर आ रही है. पहले राजा- महाराजाओं का शौक हुआ करता था हुक्का. अब युवाओं का शौक बनता जा रहा है. शहर में आठ से दस जगह ऐसी है जहां अवैध रूप से हुक्का बार संचालित किया जा रहा है।
                     सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शहर के आसपास रियायसी इलाकों सहित छोटी से लेकर बड़ी होटलों में अवैध रूप से हुक्का बार का संचालन किया जा रहा है. इसमें युवा पीढ़ी की भागीदारी सबसे ज्यादा देखने को मिल रही है. शाम 6 बजे से हुक्का बार शुरू कर दिया जा रहा है, जो देर रात तक संचालित हो रहा है. सबसे बड़ी बात यह है कि हुक्का बार संचालन राजनीतिक और रसूखदारों की सरंक्षण में चल रहा है. इसमेें युवा पीढ़ी नशे की ओर खीचती चली जा रही है. इस हुक्का बार में 18 से 25 साल के युवाओं का जमावड़ा सबसे ज्यादा देखने को मिल रहा है. 
    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शहर के मध्य हाल ही में शुरू हुई एक होटल में खुलेआम हुक्का बार चलाया जा रहा है. इस होटल में युवाओं का जमावड़ा दिनभर लगा रहा है. हुक्का पीने वालों से प्रत्येक व्यक्ति 500 से लेकर 2000 रूपए तक का शुल्क  लिया जा रहा है. बताया तो यह भी जा रहा है कि इस होटल को राजनीतिक संरक्षण मिला हुआ है. जिसके कारण पुलिस भी हाथ डालने से डर रही है.
     *पान ठेलों में बिक रहा हुक्का का सामान* 
    शहर सहित जिले के कई पान ठेले ऐसे है जो खुलेआम हुक्का का सामान बेच रहे है. जीई रोड से लगे कुछ बड़े पान ठेलों में तो खुलेआम शोकेस में हुक्का जमाकर रखा हुआ है और अलग- अलग फ्लेवर की बोतले भी रखी हुई है. जिसकी कीमत 180 रूपए सिंगल फ्लेवर, कोल 100 रूपए तथा हुक्का की कीमत 1500 से लेकर 5000 हजार रूपए तक की है. 
    *******
    किसी के पास नहीं है हुक्का बार का लाइसेंस.. 
    मिली जानकारी के अनुसार शहर सहित जिलेभर हुक्का बार संचालन करने का लायसेंस किसी भी होटल संचालक के पास नहीं है. फिर भी खुलेआम हुक्काबार चल रहा है. हुक्का का सामने बेचने वालों को भी इसका लायसेंस जारी नहीं किया गया है. बावजूद इसके खुलेआम हु्क्का का सामने बेचा जा रहा है और सप्लाई भी किया जा रहा है.
    ************
    सोशल मीडिया में डाला जा रहा विडियो..
    गत दिनों राजनीति से जुड़े और हुक्का के शौकिन लोगों ने फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया में हुक्का पीते और धुआ उड़ाते अपना विडियों स्टेटस में डाला था. जिससे साफ जाहिर हो रहा है कि हुक्का बार को राजनीतिक संरक्षण मिला हुआ है।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.