Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    स्व. चौधरी चरण सिंह की जयंती पर किसान सम्मान दिवस/किसान मेला/प्रर्दशनी का आयोजन

    स्व. चौधरी चरण सिंह की जयंती पर किसान सम्मान दिवस/किसान मेला/प्रर्दशनी का आयोजन

    शाहजहांपुर| स्व. चौधरी चरण सिंह (भू.पू.प्रधानमंत्री) के जयंती के अवसर पर किसान सम्मान दिवस/किसान मेला/प्रर्दशनी का आयोजन कृषि विज्ञान केन्द्र नियामतपुर, शाहजहाँपुर में किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, मुख्य विकास अधिकारी तथा अन्य जनपद स्तरीय अधिकारियों द्वारा माॅ सरस्वती की प्रतिमा दीप प्रजज्वलित कर तथा  स्व. चौधरी चरण सिंह (भू.पू.प्रधानमंत्री)  के छायाचित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया| इस अवसर पर उप कृषि निदेशक आनन्द कुमार त्रिपाठी, जिला कृषि रक्षा अधिकारी, भूमि संरक्षण अधिकारी (गोमती), जिला उद्यान अधिकारी, जिला मत्स्य अधिकारी एवं अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी तथा कृषि विज्ञान केन्द्र प्रभारी एन0सी0त्रिपाठी सहित समस्त वैज्ञानिक गण उपस्थित रहे। 

    जिलाधिकारी द्वारा कार्यक्रम मे प्रतिभाग करने वाले कृषको का इस अवसर पर आभार व्यक्त करते हुये स्व. चौधरी चरण सिंह (भू.पू.प्रधानमंत्री) द्वारा किसानो की प्रगति के लिए उठाये गये कदमो के बारे में बताया कि उन के समय मे बहुत से भूमि सुधार कानूनो को लागू कराया गया| जोकि आज भी बहुत प्रासंगिक है, उनके समय जमीदारी विनाश अधिनियिम को लागू किया गया|


    एक व्यक्ति अधिक से अधिक कितनी जमीन रख सकते है, सीलिंग एक्ट लागू किया गया, उपस्थित किसानो से आव्हन किया कि सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओ की जानकारी प्राप्त करे तथा उनका लाभ प्राप्त कर अपनी आय को दोगुना करे जिससे अपना जीवन खुशहाल करे जिससे  स्व. चौधरी चरण सिंह (भू.पू.प्रधानमंत्री) का सपना साकार हो सकें। इस सुअवसर पर क्राप कटिंग के आधार पर चयनित उन्नत खेती करने वाले कृषक जितेन्द्र पुत्र  नरवीर सिंह विकास खंड मदनापुर, कृष्ण पाल पुत्र ब्रजपाल आदि 32 कृषको को जनपद स्तर पर तथा 45 कृषको को विकास खंड स्तर  के कृषि तथा अन्य अनुषांगी विभाग (गन्ना, पशुपालन, तथा उद्यान) के कृषको को जिलाधिकारी  द्वारा प्रषस्ति पत्र तथा शाल ओढ़ाकर सम्मान किया गया। 

    जिला कृषि अधिकारी डा0 सतीष चन्द्र पाठक द्वारा स्व. चौधरी चरण सिंह (भू.पू.प्रधानमंत्री)  के अपने कृषक कल्याण के जीवन में किये गये कार्यो के बारे मे विस्तार से बताया। उप कृषि निदेषक आनन्द कुमार त्रिपाठी द्वारा इस अवसर पर प्रतिभाग करने वाले कृषको को बताया गया कि कृषि विभाग द्वारा किसान कल्याण योजनाएं के बारे मे चर्चा करते हुये बताया कि कृषि विभाग द्वारा आॅनलाइन माध्यम से कृषि यंत्रो को बंटा जा रहा है, कृषक अपना टोकन जेनरेट कर योजना का लाभ उठा सकते है। कृषि विभाग के राजकीय कृषि बीज भंडार पर पछेती प्रजाति गेंहू का बीज उपलब्ध है, जो किसान गन्ना काट कर गेंहू बोना चाह रहे वह राजकीय कृषि बीज भंडार से अनुदान पर उन्नतषील गेंहू की प्रजाति का बीज प्राप्त कर सकते है।  

    कृषि विज्ञान केन्द्र वैज्ञानिक डा0सी0पी0 गुप्ता द्वारा कृशकों को आधुनिक कृषि यंत्र तकनीक का पराली प्रबन्धन मे कैसे प्रयोग किया जाये, उसके बारे मे विस्तार से बताया तथा लगातार पराली प्रबन्धन हेतु की ग्राम स्तरीय बैठको के अनुभवो को कृषको के साथ साझा किया, बताया कि जनपद के कृषक अब पराली मे आग  लगाने से होने वाले दुष्परिणामों के बारे मे सोच रहे है तथा भविष्य मे पराली मे आग न लगाने के बारे मे भी आष्वस्त कर रहे है। डा0 एस0के0वर्मा द्वारा ष्षीत कालीन सब्जियों को कैसे बेहतर तरीके से उगाया जाये तथा उसका प्रबन्धन कैसे किया जाये जिससे अधिक से अधिक लाभ प्राप्त किया जा सके, तथा कृषि यंत्रो का प्रयोग तथा कृषि विविधीकरण मे बागवानी, शाक भाजी एवं फूलो की खेती को अपना कर इस समस्या से काफी हद तक निजात पा सकते है, जिससे भूमि की उर्वरा शक्ति एवं कृषक आय बढेगी तथा पराली की समस्या नही रहेगी।

    डा0 नूतन वर्मा द्वारा फसलों मे कीट प्रबन्धन के वारे मे वार्ता की तथा बताया कि पराली से कम्पोस्ट बनाकर तथा निषुल्क वितरित किये जा रहे डीकम्पोजर का प्रयोग कर पराली का बेहतर प्रबन्धन किया जा सकता है। कृषि विज्ञान केन्द्र प्रभारी डा0एन0सी0त्रिपाठी पराली प्रबन्धन के साथ-साथ आगामी रबी मे बोई जाने वाले सरसो तथा गेंहू की पछेती फसल मे बोई जाने वाली उन्नत प्रजातियों, उनकी बुवाई का समय एवं प्रबन्धन के वारे मे विस्तृत चर्चा की। 

    कृषि विज्ञान केन्द्र प्रांगण मे मत्स्य विभाग, उद्यान विभाग, कृषि विभाग एवं न्यू माटा मशीनरी स्टोर, शाह0, गन्ना विकास विभाग, पषुपालन विभाग, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना आदि के द्वारा स्टालो को लगाकर पराली प्रबन्धन के प्रति कृशको को जागरूक किया गया। कृषि विभाग से प्रेमपाल,  सुनील कुमार, अतुल रस्तोगी,  विनेश कुमार,  मुकेश प्रकाश आदि द्वारा कार्यक्रम की व्यवस्था मे सहयोग प्रदान किया गया। कार्यक्रम में जनपद के समस्त विकास खंडो के 500 से अधिक कृषको के द्वारा प्रतिभाग किया गया। कार्यक्रम का मंच संचालन डा0 सी0पी0गुप्ता द्वारा किया गया, उप कृषि निदेशक द्वारा सभी कृषको का आभार व्यक्त करते हुये कार्यक्रम समापन की घोषणा की गयी। 

    फ़ैयाज़ उद्दीन, शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.