Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शहीद का पार्थिव शरीर पैतृक गांव पहुंचा, मुक्तिधाम पर हुआ सैनिक सम्मान के साथ अंत्येष्टि संस्कार

    हीद का पार्थिव शरीर पैतृक गांव पहुंचा, मुक्तिधाम पर हुआ सैनिक सम्मान के साथ अंत्येष्टि संस्कार

    गोरखपुर। गोला थाना क्षेत्र के डेहरीभार निवासी रामशब्द पुत्र घनघन प्रसाद सी आर पी एफ में ए एस आई पद पर जिला कुलगांव,डी सी डीएच पुरा डी के मार्ग काश्मीर में ड्युटी पर थे। जिनकी हृदय पक्षाघात से रविवार को  मौत हो गई।सोमवार को उनका पार्थिव शरीर उनके घर पहुचा।और मंगलवार को गोला सरयूं तट मुक्तिधाम पर सैनिक सम्मान के साथ अंत्येष्ठीय कर दिया गया।

    बताते चले कि 12 जनवरी 1969 को डेहरीभार गांव मे जन्मे रामशबद बचपन से ही सादा स्वभाव और मिलनसार ब्यक्ति थे। राम शब्द चार भाई है। जिनमें रामशबद सबसे छोटे है। बड़े भाई भकोल सी आर पी एफ मे एस आई पद से अवकाश प्राप्त है। इन्ही से प्रेरणा लेकर राम शबद ने सन् 1988 मे सी आर पी एफ फोर्स ज्वाईन किया। औरअनवरत अपनी सेवा देते रहे। कुछ वर्ष पुर्व रामशबद को ब्लड सुगर हो गया जिससे  बीमार चलने लगे।

    रामशबद को दो लड़की और एक लड़का श्रीनारायण है, जिसकी उम्र 28 वर्ष है। वह घर पर ही रहता है। एक पुत्री की शादी करनी अभी बाकी है। अभी दस दिन पूर्व ही कश्मीर ड्युटी पर गया था। वहां पर बीते रविवार की सुबह हार्ड अटैक से मृत्यु हो गई। कश्मीर से कल ही इनकी पार्थिव शरीर को बाई प्लेन लखनऊ भेजा गया। वहां से एक बस सी आर पी एफ के साथ देर रात को डेहरीभार गांव में पहुचे। 

    मंगलवार की सुबह उनकी पार्थिव शरीर को गोला मुक्ति पथ पर दाह संस्कार सैनिक सम्मान के साथ किया गया। उनके एकलौते पुत्र श्रीनारायण ने मुखाग्नि दिया।इस अवसर पर एस डी एम गोला राजेन्द्र बहादुर सी ओ गोला श्यामदेव कोतवाल गोला संतोषकुमार सिंह भारी पुलिस बल के साथ व क्षेत्र के सभ्रांत लोग भारी संख्या में उपस्थित रहे।

    अमित कुमार सिंह

    गोरखपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.