Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    डीएम ने की उत्पाद वित्त पोषण योजना एवं मुख्य मंत्री युवा स्वरोजगार योजना की समीक्षा बैठक

    डीएम ने की उत्पाद वित्त पोषण योजना एवं मुख्य मंत्री युवा स्वरोजगार योजना की समीक्षा बैठक 
    शाहजहांपुर। मुद्रा लोन के लाभार्थियों के आवेदन किसी बैंक द्वारा गलत तरीके से निरस्त किए गये है तो सम्बन्धित की जिम्मेदारी तय की जाए। यह बात जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह ने कलेक्ट्रेट कार्यालय कक्ष में एक जनपद एक उत्पाद वित्त पोषण योजना एवं मुख्य मंत्री युवा स्वरोजगार योजना की समीक्षा बैठक के दौरान कही। उन्होेंने कहा है कि मुद्रा लोन के आवेदन को बैंकों द्वारा पारदर्षिता के साथ ससमय से निस्तारित किया जाए अन्यथा सम्बन्धित का उत्तरदायित्व निर्धारित किया जाएगा।
    श्री सिंह ने बड़ौदा उ0प्र0 ग्रामीण बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, बैंक आॅफ बड़ौदा, बैंक आॅफ इण्डिया, आदि बैंक प्रतिनिधियों के साथ समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने एक जनपद एक उत्पाद वित्त पोषण योजना के तहत भारतीय स्टेट बैंक को 65 आवेदन प्राप्त होने के उपरान्त एक भी आवेदन स्वीकृति न होने नाराजगी व्यक्त की। इसी प्रकार पंजाब नेशनल बैंक में 35 आवेदनों में से एक भी आवेदन की स्वीकृत नहीं तथा बैंक आॅफ इण्डिया के 12 आवेदनों में स्वीकृत एक भी न होने पर  एलडीएम को निर्देश दिए कि बैंकों से निरन्तर संवाद स्थापित करें और मुद्रा लोन के जो भी बैंकों में लम्बित प्रकरण है उनका समय से निस्तारण करवाना सुनिश्चित करें।
    इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रेरणा शर्मा, अपर जिलाधिकारी वि0/रा0  गिरिजेश कुमार चौधरी, अपर जिलाधिकारी प्रशासन राम सेवक द्विवेदी, जीएमडीआईसी दुर्गेश कुमार, एलडीएम चंद्रशेखर जोशी आदि उपस्थित रहे। 

    फ़ैयाज़ उद्दीन, शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.