Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    भाजपा विधायक के बेटे व अधिवक्ता समेत अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज, किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष से मारपीट का आरोप

    भाजपा विधायक के बेटे व अधिवक्ता समेत अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज, किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष से मारपीट का आरोप

    (तहसीलदार के कार्यालय में किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष से मारपीट का आरोप, किसान यूनियन के प्रदर्शन के बाद चौक कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज हुई)

    शाहजहांपुर। ददरौल विधानसभा से भाजपा विधायक मानवेन्द्र सिंह के बेटे अरविंद सिंह व एक अधिवक्ता समेत तीन से चार अज्ञात लोगों के खिलाफ चौक कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है। इन लोगो पर किसान यूनियन के नेता से मारपीट और धमकाने का आरोप लगा है। वहीं अरविंद ने इन आरोपो को सिरे से खारिज करते हुए इसे अपने खिलाफ साजिश बताया है।

    थाना कांट क्षेत्र के ग्राम  करसाही निवासी महेंद्र यादव भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष हैं। उनका आरोप है कि शुक्रवार को शाम करीब 4 बजे वह किसी काम से तहसील सदर गए थे। वहां तहसीलदार के कार्यालय में भाजपा विधायक पुत्र अरविंद सिंह, वकील मनेंद्र सिंह व अरविंद के तीन चार साथियो के अलावा कुछ वकील भी बैठे थे। महेन्द्र यादव का आरोप है कि अरविंद ने उनके साथ गाली गलौज शुरू कर दी। 



    कुर्सी से उठकर जूता निकालकर उसको मारने को लिया। लेकिन भीड़ होने के कारण वह उस तक नही पहुंच सके। इस बीच तहसीलदार ने महेंद्र को बाहर जाने का इशारा कर दिया। आरोप है कि जब वह बाहर जाने लगा तो उन लोगो ने रिवाल्वर निकालकर उसे जान से मारने की धमकी भी दी। भाकियू जिलाध्यक्ष के साथ हुई अभद्रता पर किसान भड़क उठे। शनिवार को तमाम किसानों ने कलक्ट्रेट में प्रदर्शन किया। पुलिस ने आनन फानन में विधायक पुत्र अरविंद सिंह, अधिवक्ता मनेंद्र सिंह समेत तीन से चार लोगो के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 352, 504, 506 के तहत रिपोर्ट दर्ज का मामले की जांच शुरू कर दी है।

    ***************

    मेरे खिलाफ एफआईआर हुई इसकी मुझे जानकारी नही है। जो आरोप लगाए गए हैं वह झूठे और निराधार हैं। जांच में असलियत सामने आ जायेगी।

                                  -अरविंद सिंह(विधायक पुत्र)


    ज़मीन को लेकर चल रहा था विवाद...

    कांट क्षेत्र में एक जमीन को लेकर अरविंद सिंह और किसान नेता महेन्द्र यादव के बीच टशन चल रही थी। महेंद्र का कहना हैं कि अपने रसूख के चलते अरविंद ने फर्जीबाड़ा करके ग्राम समाज की जमीन पा बैनामा करवा दिया। वह उसका दाखिल खारिज करवाना चाहते थे जिसपर महेंद्र ने आपत्ति लगा दी। इसी को लेकर दोनो के बीच विवाद चल रहा था।

    फ़ैयाज़ उद्दीन, शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.