Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    जश्ने ईद मीलादुन्नबी के मुबारक मौके पर हुआ भव्य आयोजन, मुल्क की सलामती के लिए मांगी गई दुआ

    जश्ने ईद मीलादुन्नबी के मुबारक मौके पर हुआ भव्य आयोजन, मुल्क की सलामती के लिए मांगी गई दुआ
    (इमाम  हुजूर अहमद मंजरी ने कहा कि पैगम्बर-ए-इस्लाम मुख्तारे कायनात हैं)
    शाहजहाँपुर।
    जश्ने ईद मीलादुन्नबी का आयोजन किया गया, जिसमें उलमा-ए-कराम ने पैगम्बर-ए-इस्लाम की हयाते तैय्यबा पर रोशनी डाली। आखिर में मुल्क व कौम की तरक्की और आपसी भाईचारे की दुआ की गई। कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए इस बार कम लोगों को आमंत्रित किया गया।
    मोहल्ला महमंद जलालनगर में आयोजित जलसे को खिताब करते हुए शहर पेश इमाम मौलाना हुजूर अहमद मंजरी ने कहा कि पैगम्बर-ए-इस्लाम मुख्तारे कायनात हैं।





    अल्लाह ताला ने नबी करीम सल्ललाहो अलैहिवसल्लम को आखिरी नबी बनाकर लिबासे जिस्मानी में दुनिया में पैदा फरमाया। आप सरापा नूर हैं। मौलाना अनीस खां अतहर ने कहा कि अल्लाह ताला कुरआने पाक में फरमाता है कि अल्लाह के फज्ल और उसकी रहमत पर ही लोगों को खुशी मनाना चाहिए। कायनात में अल्लाह के हबीब की जात से बढ़कर न कोई फज्ल है और न कोई रहमत।

    रियाजुल कादरी, मौलाना जाबिर, अनीस अत्तारी ने भी जलसे को खिताब किया। रेहान कादरी, कारी अली अहमद, गुलफाम रजा कादरी ने बारगाह-ए-रिसालत में नात का नजराना पेश किया। इससे पहले जलसे का आगाज तिलावते कुरान-ए-पाक से किया गया। आखिर में सभी ने मुल्क में अमनो-अमान और भाईचारे की दुआ मांगी। इस मौके पर सपा जिलाध्यक्ष तनवीर खां, तौकीर खां, सलीम खां, फैयाज खां, उजैर, सैयद अनवर सईद, अब्दुल हामिद, नासिर, कासिम खां, रजी उल्ला, हाजी कमाल, हाफिज यामीन, हाफिज मेहराब आदि मौजूद रहे।

    फ़ैयाज़ उद्दीन, शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.