Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शिक्षिका को उसके साथी शिक्षक ने मारी गोली हुई मौके पर मौत

    शिक्षिका को उसके साथी शिक्षक ने मारी गोली हुई मौके पर मौत
    कहीं आपसी प्रेम प्रसंग की चर्चा तो नहीं बनी शिक्षिका की मौत का कारण....
    सीतापुर। जिले के थाना मानपुर के पकरिया प्राथमिक स्कूल में कार्यरत एक शिक्षिका को उसके साथी शिक्षक ने गोली मार दी। जिससे उसकी मौके पर ही मृत्यु हो गई। घटना स्थल पर एसपी. आरपी. सिंह, सीओ. सदर पीयूष कुमार, यादवेंद्र यादव समेत खैराबाद व मानपुर तथा लहरपुर की पुलिस पहुंच गई। हुई इस घटना के बारे में तरह तरह के कयास लगाए जा रहे है। 
           जानकारी के अनुसार खैराबाद ब्लॉक के प्राथमिक स्कूल पकरिया में वर्ष 2015 से शिक्षिका आराधना राय कार्यरत थी। उसके साथ कुल आठ शिक्षक व शिक्षिकाएं इस स्कूल में कार्यरत थी। जिसमे रूबी, तबस्सुम, भरतलाल, किरण मौर्य, प्रतिमा सिंह, नेहा हजारी व अमित कुमार कौशल सामिल है। जिसमे से आज शनिवार कुल 5 शिक्षिकाएं आराधना राय, रुबीना इसरत, तबस्सुम, भरतलाल व अमित कुमार कौशल की उपस्थिति थी। अमित कुमार कौशल 2019 में तैनात हुवा था। आज करीब 21 नवम्बर को रोजाना की भांति आराधना किराए की मारुति बैन से स्कूल आई थी। शाम करीब 3 बजे शिक्षक अमित कुमार कौशल ने शिक्षिका आराधना राय को तमंचे से गोली मार दी। जिससे घटना स्थल पर ही उसकी मौत हो गई। शिक्षक अमित कौशल घटना को अंजाम देकर कही भाग गया। पुलिस अधीक्षक आरपी. सिंह ने घटना को लेकर गम्भीर जांच के निर्देश देते हुए कई थानो की पुलिस को नियुक्त कर दिया है। 

    ******

    कहीं मृतका व शिक्षक अमित के बीच चल रहा प्रेम प्रसंग तो नहीं बना घटना का कारण....?

    जनचर्चा के मुताबिक शिक्षिका आराधना राय व शिक्षक अमित के बीच प्रेम प्रसंग की चर्चा गांव में आग की तरह फैली थी। जिसकी जानकारी बीएसए. सीतापुर को भी होना बताया जा रहा है। बीएसए. अजीत कुमार ने आज खण्ड शिक्षा अधिकारी खैराबाद प्रमोद कुमार पटेल को जांच के निर्देश दिए गए थे। मगर आज अमित पटेल ने पहले ही स्कूल आकर आराधना को गैरहाजिर कर दिया। जिसके बाद दोनों में कुछ कहा सुनी की बात चर्चा में थी। जिसके बाद अमित ने आराधना को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। 

    ****************

    उपस्थित शिक्षिकाएं भी बनी घटना से अनजान..

    स्कूल में आज कुल 5 शिक्षक व शिक्षिकाएं उपस्थित थीं। घटना स्थल पर स्कूल में मौजूद रूबीना इसरत, तबस्सुम व शिक्षक भरत लाल इस घटना के बावत बिल्कुल अनजान बन गए।

    शरद कपूर, सीतापुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.