Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या: रामलला के साथ-साथ राम मंदिर निर्माण का भी भक्त कर पाएंगे दर्शन, ट्रस्ट कर रहा तैयारी

    अयोध्या: रामलला के साथ-साथ राम मंदिर निर्माण का भी भक्त कर पाएंगे दर्शन, ट्रस्ट कर रहा तैयारी

    अयोध्या। इच्छाएं बड़ी प्रबल होती है, माननीय सर्वोच्च न्यायालय  का फैसला  राम मंदिर  के पक्ष में आने के बाद उत्सुकता इतनी तेज बढ़ गई थी कि  अब मंदिर निर्माण  होगा। उसके बाद  प्रधानमंत्री ने  मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया,  शिला पूजन किया,  अब एक बार पुनः  मन में बात उठती है कि  मंदिर का निर्माण जल्दी हो।  जिसके लिए  काम शुरू हो गया है। पिलर के लिए  टेस्टिंग  हो गया। अब आम राम भक्तों के  मन में  यह बात आ रही है  कि मंदिर निर्माण शुरू हो गया है  तो उसे देखना भी चाहिए।
    ऐसे में  राम भक्तों  की आशाओं को पूरा करने के लिए  प्रयास किया जा रहा है! राम भक्त राम दर्शन के साथ-साथ अब बहुत जल्द ही निर्माण कार्य के भी दर्शन करेंगे अयोध्या में राममंदिर निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।
    अब मंदिर निर्माण की जानकारी रामलला के भक्तों  को भी दी जाएगी! साथ ही राम मंदिर पहुंचने वाले श्रद्धालु मंदिर निर्माण को अपनी आंखों से देख भी सकेंगे। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट इसके लिए ऐसी योजना बनाने जा रहा है, जिसके तहत श्रद्धालु रामलला का दर्शन करने के साथ-साथ मंदिर निर्माण के काम को भी देख सकेंगे।
          रामलला का दर्शन करने वाले श्रद्धालु दर्शन मार्ग पर स्थित कैंप कार्यालय में जाकर मंदिर निर्माण की गतिविधि की जानकारी ले सकते हैं लेकिन अब श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट एक कदम और आगे बढ़ाने जा रहा है। मंदिर निर्माण के काम को अब श्रद्धालु अपनी आंखों से देख सकेंगे। ट्रस्ट इसकी तैयारी कर रहा है! अभी इस काम में समय लगेगा, क्योंकि राम मंदिर निर्माण की आधारशिला रखने के लिए जमीन के नीचे 100 फुट की गहराई पर एक मीटर चौड़ाई का पिलर गलाया जा रहा है। पिलर की पाइलिंग होने के बाद उसके ऊपर फाउंडेशन बनेगा और फाउंडेशन बनने पर श्रद्धालु मंदिर निर्माण के काम को देख सकेंगे।
        श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट कैंप कार्यालय के प्रभारी प्रभात कुमार गुप्ता ने बताया कि मंदिर निर्माण के लिए पाइलिंग का कार्य चल रहा है. इस लिहाज से पाइलिंग की जा रही है कि मंदिर 1000 वर्षों तक सुरक्षित रह सके. पिलर की पाइलिंग के बाद जमीन के अंदर काम शुरू होगा. उसको कोई देख नहीं पाएगा, क्योंकि यह कार्य जमीन के नीचे होगा. सुरक्षा के लिहाज से लोगों का वहां जाना उचित नहीं है लेकिन जमीन के ऊपर का काम जब शुरू होगा, तो भक्त मंदिर निर्माण के कार्य को देख पाएंगे! ट्रस्ट ऐसी योजना बना रहा है कि मंदिर निर्माण के कार्य को श्रद्धालु अपनी आंखों से देख सकेंगे।

    देव बक्श वर्मा, अयोध्या

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.