Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    भाकियू ने जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर धान क्रय क्रेन्द्र पर किसानों का शोषण रोकने की मांग

    भाकियू ने जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर धान क्रय क्रेन्द्र पर किसानों का शोषण रोकने की मांग

    सबूत के तौर पर पेश की आडियो क्लिप एवं पर्ची

    सीतापुर. भारतीय किसान यूनियन अवध उत्तर प्रदेश के कार्यवाहक प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप शुक्ला उर्फ श्यामू ने जिलाधिकारी सीतापुर को एक ज्ञापन देकर धान क्रय केंद्रों पर किसानों का हो रहे शोषण की बात सामने रखी है. उन्होंने जिलाधिकारी को दिए गए ज्ञापन में कई सबूतों का हवाला देते हुए कहा कि किसानों का दिन पर दिन शोषण होता रहा है. तहसील सदर के अंतर्गत पी सी यू विभाग द्वारा संचालित क्रय केंद्र पडरखा मे केंद्र प्रभारी के द्वारा किसानों से धान तुलाई के नाम पर 300 से 400 रुपए प्रति कुंतल कमीशन लिया जा रहा है. ऐसा मामला एक किसान के द्वारा प्रकाश में आया है, बड़ा गांव निवासी किसान आनंद प्रताप सिंह पुत्र बृजेश सिंह जिनके द्वारा पडरखा क्रय केंद्र पर 23 कुंटल 20 किलो धान बेचा गया था. जिस पर प्रभारी के द्वारा ₹270 प्रति कुंटल कमीशन मांगा गया जब किसान ने कमीशन नहीं दिया तो प्रभारी के द्वारा किसान के खाते में 19 कुंटल 32 किलो का ही पैसा भेजा गया.



    जब किसान ने यह बात प्रभारी से कही तो प्रभारी ने बताया कि ₹270 प्रति कुंटल के हिसाब से मैंने अपना कमीशन काट लिया है और शेष पैसा आपके खाते में भेज दिया जिसकी किसान और क्रय केंद्र प्रभारी की जो बात हुई है. उसकी साक्ष्य के तौर पर रिकॉर्डिंग मौजूद हैं. जिसमे प्रभारी 270रू प्रति कु०कमीशन लेने की बात स्वीकार कर रहा है. इस तरह से क्रय केंद्र प्रभारियों के द्वारा किसानों का शोषण किया जा रहा है. जबकि सरकार की मंशा है कि किसानों के साथ एक  पैसे की भी रिश्वतखोरी और कमीशन खोरी ना होने पाए. सीतापुर जिला प्रशासन जिला खाद्य विपणन अधिकारी तथा पीसीयू विभाग के प्रबंधक उप जिलाधिकारी से अनुरोध किया कि उक्त प्रकरण की जांच कराकर किसान का पूरा भुगतान कराया जाए तथा ऐसे भ्रष्ट प्रभारी के ऊपर मुकदमा पंजीकृत करा कर निलंबन की कार्यवाही की जाए.

    शरद कपूर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.