Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ की संयुक्त बैठक का आयोजन

    जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ की संयुक्त बैठक का आयोजन
    सीतापुर। सरोजिनी वाटिका पार्क में राम चंद्र मिश्र जिला अध्यक्ष की अध्यक्षता में जूनियर हाई स्कूल शिक्षक संघ जनपद सीतापुर की बैठक संपन्न हुई। जिसमें सभी ब्लॉक -अध्यक्ष, मंत्री तथा जनपदीय कार्यकारिणी के पदाधिकारी एवं मंडलीय अध्यक्ष अपूर्व दीक्षित और प्रांतीय प्रवक्ता मनीष पांडेय  उपस्थित रहे। कोरोना कॉल के लंबे समय से सक्रियता कम रह पाने के कारण ,संगठन की बैठक काफी दिनों के बाद आयोजित हुई । जिसमें सभी ब्लॉक के पदाधिकारियों ने अपने-अपने ब्लॉक की समस्याओं को उजागर किया।

    ब्लॉक परसेंडी के मंत्री हारून ने अपने ब्लॉक में खंड शिक्षा अधिकारी की ज्यादती की जानकारी दी और बताया कि वह प्रातः 9:05 पर एवं अपरान्ह 2:55 पर जानबूझकर इसलिए निरीक्षण करते हैं कि शिक्षकों को प्रताड़ित किया जा सके। जनपदीय महामंत्री रणविजय सिंह ने कहा कि जनपद की अच्छी छवि को धूमिल करने वाले किसी भी अधिकारी को बख्शा नहीं जाएगा क्योंकि शिक्षा महानिदेशक के निर्देशानुसार खंड शिक्षा अधिकारी , एआरपी , एसआरजी आदि सभी का सम्मिलित कार्य शिक्षण व्यवस्था को उन्नत बनाना है । यदिअधिकारी निरीक्षण कर शिक्षकों को अनर्गल रूप से अपना शिकार बनाना चाहेंगे तो उन्हें संगठन बर्दाश्त नहीं करेगा और उसका मुंहतोड़ जवाब उन्हें तुरंत दिया जाएगा। उन्होंने कहा, संगठन सभी शिक्षकों को विश्वास दिलाता है, कोई भी शिक्षक  किसी भी अधिकारी से भयभीत ना हो। यह संगठन की जिम्मेदारी है कि शिक्षक पर किसी भी प्रकार की ज्यादती होने पर ,संबंधित अधिकारी को उसका मुंहतोड़ जवाब देने में संगठन पूर्णतया सक्षम है।
    संगठन पदाधिकारियों ने यह भी जानकारी दी कि एकेडमिक सपोर्ट के लिए नियुक्त किए गए शिक्षकों में से ही एआरपी एवं एसआरजी आदि के द्वारा विद्यालयों में निरीक्षण किया जा रहा है। जो एकेडमिक सपोर्ट कम तथा अनुशासनात्मक निरीक्षण का दिखावा ज्यादा करते हैं। मंडल अध्यक्ष ने स्पष्ट किया कि इनको निरीक्षण मत करने दें ,उन्हें आते ही विद्यालय में कक्षाओं में पाठ पढ़ाने को कहें क्योंकि उनकी नियुक्ति ,एकेडमिक सपोर्ट अर्थात शिक्षण पद्धति को उन्नत बनाने के लिए है । अगर वह ऐसा नहीं करते तो तत्काल इसकी सूचना मुझे दें। ऐसे एआरपी , एसआरजी के खिलाफ तत्काल BSA व एसपीडी को अवगत कराकर कड़ी कराई जाएगी। अध्यक्ष, महोली एवं जनपद उपाध्यक्ष लक्ष्मीनारायण गुप्ता ने अधिकारियों की कार्यशैली पर प्रश्न चिन्ह लगाते हुए अवगत कराया कि खंड शिक्षा अधिकारी केवल प्रशासनिक अधिकारी ही नहीं बल्कि बीआरसी समन्वयक भी हैं। अतः उन्हें निरीक्षण के दौरान अनुशासनात्मक निरीक्षण कम करना चाहिए और एकेडमी निरीक्षण पर अधिक ध्यान देना चाहिए लेकिन वास्तव में ऐसा हो नहीं रहा है, जो शिक्षक हित व छात्र हित में नहीं है।

    ब्लॉक अध्यक्ष व मंत्रियों के द्वारा ब्लॉक में भ्रष्टाचार ,उत्पीड़न एवं अधिकारियों द्वारा शोषण की जानकारी देने पर मंडलीय अध्यक्ष अपूर्व दीक्षित द्वारा एडी बेसिक, एसपीडी एवं शिक्षा निदेशक सहित शिक्षा महानिदेशक से तत्काल कार्यवाही कराने का आश्वासन दिया और बताया कि इस समय विद्यालयों में बच्चे नहीं हैं इसलिए विद्यालय खोलने की नियत समय पर निरीक्षण करने का अर्थ है- शिक्षकों का शोषण करना। अगर कोई अधिकारी ऐसा करता है तो उसके खिलाफ तत्काल कठोर कार्यवाही की जाएगी इसलिए सभी ब्लॉक के अध्यक्ष एवं मंत्री अपने ब्लॉक के शिक्षकों को अवगत करा दें कि उन्हें डरने की कोई जरूरत नहीं।

    बैठक में मुख्य रूप से मंडलीय अध्यक्ष अपूर्व दीक्षित , प्रांतीय प्रवक्ता मनीष पांडे ,  जिला अध्यक्ष रामचंद्र मिश्र , महामंत्री रणविजय सिंह यादव,  कोषाध्यक्ष बच्चन खां,  मंडली/ पदाधिकारी कविता जयंत , जनपदीय पदाधिकारी मुन्नी देवी, लक्ष्मी नारायण गुप्ता, रमा शंकर अवस्थी, पंकज त्रिवेदी ,पंकज अवस्थी, सुरेंद्र श्रीवास्तव, राजेश विश्वकर्मा, अशोक तिवारी ,कृष्ण कुमार मौर्य, सुंदरलाल ,रजनीश वर्मा, प्रेम कुमार ,दुर्गेश सिंह ,सुबोध शर्मा ,संदीप कुमार ,चंद्रभान वर्मा ,डॉक्टर मेराज अहमद, रईस अहमद ,मोहम्मद हारुन ,सतेंद्र शुक्ला, डॉक्टर मुस्तफा अली, मनोज मिश्रा , नरेश मिश्रा, जहीर आलम ,अनुपम राही एवं अन्य पदाधिकारी व शिक्षक उपस्थित रहे।

    शरद कपूर, सीतापुर।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.