Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    किशोरावस्था में बदलाव को न समझे समस्या- डॉ .पुष्पेंद्र कुमार

    किशोरावस्था में बदलाव को न समझे समस्या- डॉ .पुष्पेंद्र कुमार 

    कोविड-19 प्रोटोकॉल के साथ आयोजित हुई रंगोली प्रतियोगिता

    शाहजहांपुर। राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत ब्लाक तिलहर  के ग्राम खैरपुर ,राजपुर और पलिया पट्टी  स्थित स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर किशोर स्वास्थ्य दिवस  का प्रथम  चरण का आयोजन किया गया |  कार्यक्रम का आयोजन थीम मानसिक स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए किया गया  है | किशोर स्वास्थ्य दिवस में ग्रामीण क्षेत्र के 10 वर्ष से 19 वर्ष तक के किशोर-किशोरियों की लंबाई, वजन व हीमोग्लोबिन की जांच एएनएम प्रियंका मिश्रा  के द्वारा की गयी | सभी किशोर-किशोरियों को आयरन की टेबलेट, एल्बेंडाजॉल टेबलेट और किशोरियों को सैनिटरी नैपकिन का निःशुल्क वितरण किया गया |

    एएनएम प्रियंका मिश्रा के द्वारा उपस्थित सभी किशोर किशोरियों को किशोरावस्था में होने वाले शारीरिक, मानसिक, सामजिक व भावनात्मक बदलावों के  विषय में विस्तृत जानकारी दी गयी और किशोरियों को  महावारी से संबंधित विभिन्न पहलुओं के बारे में भी जानकारी दी गयी | किशोरावस्था में सही खान-पान, संचारी व गैर संचारी रोगों से बचाव, नशीले पदार्थो के सेवन सें होने वाली बीमारियां, युवावस्था में मानसिक अवसाद से मुक्ति, यौन शिक्षा एवं उनके मौलिक अधिकारों के प्रति जागरूक किया गया |

    डा. पुष्पेंद्र कुमार नोडल अधिकारी राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम ने बताया किशोरावस्था में होने बाले बदलाव को कोई समस्या न समझे क्योंकि किशोर किशोरियों में अनेक प्रकार के शारीरिक, मानसिक व भावनात्मक बदलाव आते हैं | जिससे किशोर-किशोरियां अक्सर विभिन्न प्रकार की चिंताओ के शिकार हो जाते हैं  जिससे उनका विकास एवं संवर्धन रुक जाता है | इस समस्या को दूर करने के लिए राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत संचालित अर्श क्लीनिक, पीयर एजूकेटर तथा मित्रता क्लब द्वारा समुदाय में कई तरह की गतिविधयों का आयोजन किया जाता है जिनमें से किशोर स्वास्थ्य दिवस भी एक गतिविधि ही है | इन गतिविधियों का मुख्य उद्देश्य किशोर किशोरियों को किशोर स्वास्थ्य एवं परिवार विकास से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां देना,  किशोरावस्था के दौरान रखी जाने वाली विशेष सावधानियों के बारे में जागरुक करना और अपने आपको सुरक्षित रखने एवं किशोरियों को अच्छे और बुरे स्पर्श के विषय में प्रेरित और सजग करना है |

    रुचिता वर्मा जिला समन्वयक राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम ने बताया कि किशोर स्वास्थ्य दिवस में उपस्थित किशोर किशोरियों को किशोरावस्था के छह व्यापक मुद्दों जैसे यौन और प्रजनन स्वास्थ्य, मानसिक तथा भावनात्मक स्वास्थ्य, स्वस्थ जीवनशैली, हिंसामुक्त जीवन, बेहतर पोषण स्तर और नशावृत्ति न करने के लिए किशोर किशोरियों को प्रेरित किया गया | कार्यक्रम में कोविड-19 के प्रोटोकॉल को अपनाते हुए मेहंदी, रंगोली और प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया |

    इस कार्यक्रम का आयोजन सिंधौली, कांट, जैतीपुर,मदनापुर ,सहित  तिलहर में किया गया है l इस दौरान ब्लॉक तिलहर के स्वास्थ्य उपकेन्द्र खैरपुर की प्रतियोगिता में अच्छा प्रदर्शन करने वाले हर्षिता, अंजली , जैनबी खान को क्रमशः प्रथम दुतीय और तृतीय  विजेताओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया और अन्य प्रतिभागितों का भी सम्मान और उत्सावर्धन किया गया | उमाशंकर अर्श काउंसलर ने बताया कि किशोरियों को मासिक धर्म के समय प्रचलित भेद भाव को खत्म करना है और साथ ही अपने सभी साथियों को इसका विरोध करने के लिए प्रेरित करना है क्योंकि मासिक धर्म प्रकृती का नियम है कोई समस्या या अपराध नही है. इस अवसर पर क्षेत्र की आशा , आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं सहित पियर एजूकेटर और  लगभग 50  किशोर-किशोरियों और उनके  अभिभावकों  ने प्रतिभाग किया  |

    फ़ैयाज़ उद्दीन,  शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.