Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या: मंदिर निर्माण के लिए तराशे गए पत्थरों को जन्मभूमि परिसर में ले जाने का सिलसिला जारी

    अयोध्या: मंदिर निर्माण के लिए तराशे गए पत्थरों को जन्मभूमि परिसर में ले जाने का सिलसिला जारी

     मंदिर निर्माण की बुनियाद में बनेंगे 1200  पिलर्स ,बुनियाद का काम 2021 में होगा पूरा

    अयोध्या। मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के जन्म स्थान पर बनने वाले राम मंदिर  की  रफ्तार  धीरे-धीरे तेज पकड़ना शुरू हो गया है।  निर्माण काम नवरात्र में  शुरू होगा। राम जन्मभूमि निर्माण कार्यशाला से तराशे गए पत्थरों को  जन्मभूमि परिसर  की अस्थाई कार्यशाला में पहुचाने का सिलसिला जारी है। कार्यशाला से पत्थरों को दूसरी बार राम जन्मभूमि परिसर मे भेजा गया।  बुनियाद के ऊपर के चार पिलर्स को क्रेन से लादकर बड़े ट्रक में चढ़ाया गया और उसके बाद उसे राम जन्मभूमि परिसर ले जाया गया। कार्यशाला से तराशे गए पत्थरों को इस तरह ले जाए जा रहा है कि पहले बुनियाद के पिलर को पहुंचाया जाए। जिससे  राम मंदिर  के निर्माण मे आवश्यकता के अनुसार  पत्थरों को निकालने में परेशानी ना हो।


     15 अक्टूबर से राम मंदिर की बुनियाद के लिए पिलर्स बनाने का काम शुरू हो जाएगा। यह पिलर्स जमीन के अंदर गलाए जाएंगे, जिसके ऊपर बुनियाद का स्ट्रक्चर खड़ा होगा। इन पिलर्स की संख्‍या 1200 है।  अभी तक 3 पिलर्स बनाए गए हैं। जिन का परीक्षण आईआईटी रुड़की और एलएंडटी कंपनी के द्वारा किया जा रहा है। यह परीक्षण लगभग पूरा हो गया है और अब आगे का कार्य शुरू किया जाएगा।

    बुनियाद का कार्य लगभग 2021 तक पूरा हो जाएगा और उसके बाद बुनियाद के ऊपर का ढांचा खड़ा करने का कार्य शुरू होगा।   पत्थरों को ले जाने का सिलसिला अभी शुरू हुआ है। इन पत्थरो को वहां ले जाकर पहले उसकी गिनती  किया जायगा। कितने पत्थर मंदिर में लगने हैं और कितने कहां-कहां के हैं।देखा जायेगा। इन्हें ले जाकर अस्थाई कार्यशाला में सुरक्षित रखा जाएगा और वहां इनकी मंदिर निर्माण के अनुसार गिनती  करके साफ सफाई की जाएगी। 

    देव बक्श  वर्मा  अयोध्या

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.