Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पीएम स्वनिधि योजना में पात्रों को तत्काल ऋण वितरित करें सम्बंधित बैंक- जिलाधिकारी

    पीएम स्वनिधि योजना में पात्रों को तत्काल ऋण वितरित करें सम्बंधित बैंक- जिलाधिकारी

    (जिलाधिकारी ने लंबित प्रकरणों के तत्काल निस्तारण के दिये निर्देश)

    सीतापुर. जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज की अध्यक्षता में बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में नगरीय निकायों के अधिशाषी अधिकारियों, प्रबन्धक अग्रणी जिला बैंक, परियोजना अधिकारी डूडा तथा बैंको के जिला समन्वयक एवं शाखा प्रबंधकों की उपस्थिति पीएम स्वनिधि (प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेन्डर्स आत्मनिर्भर निधि) योजना की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुयी। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने नगर निकायों के पथ विक्रेताओं के पंजीकरण एवं योजनान्तर्गत ऋण हेतु प्राप्त आवेदनों एवं बैंको द्वारा ऋण स्वीकृत करने की समीक्षा की। जिलाधिकारी द्वारा लक्ष्य के सापेक्ष अपेक्षित प्रगति न पाये जाने के कारण अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए समस्त बैंकर्स को लक्ष्य के सापेक्ष प्राथमिकता पर लोन वितरण करने के निर्देश दिए।


    जिलाधिकारी ने स्पष्ट कहा कि यह माननीय प्रधानमंत्री जी की अतिमहत्वपूर्ण योजना है, इसलिए इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही न की जाय। उन्होंने सभी नगरीय निकायों के अधिशाषी अधिकारियों को निर्देश दिए कि बैंकों के समन्वय स्थापित करते हुए अधिक से अधिक पथ विक्रेताओं को लाभान्वित कराएं। जिलाधिकारी ने सहयोग न करने वाली बैंकों की शाखाओं की आख्या सम्बन्धित अधिशाषी अधिकारी से प्राप्त करते हुए उच्चाधिकारियों को अवगत कराएं जाने के भी निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि जिनका ऋण स्वीकृत हो चुका है, उन्हें तत्काल वितरण भी कराया जाए।

    अभी तक प्राप्त 4595 ऋण आवेदनों के सापेक्ष 2494 आवेदन स्वीकृत किये जा चुके है। इंडियन बैंक में 210, स्टेट बैंक आफ इन्डिया में 164, बैंक आफ इण्डिया में 93, पंजाब नेशनल बैंक में 73, बैंक आफ बड़ोदा में 145, यूको बैंक में 170, यूनियन बैंक आफ इण्डिया में 316, कार्पोरेशन बैंक में 22, सिंडिकेट बैंक में 13, ओरियंटल बैंक आफ कार्मस में 53, आंध्रा बैंक में 18, आर्यावर्त बैंक में 37, इंडियन ओवरसीज बैंक में 7 एवं पंजाब एवं सिंध बैंक में 26 ऋण डिस्बर्सल हेतु लंबित हैं। जिलाधिकारी ने इन सभी प्रकरणों को कल ही निस्तारित किये जाने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने स्पष्ट कहा की शासन की महत्वाकांक्षी एवं व्यापक जनहित योजनाओं में सहयोग न करने वाली बैंक शाखाओं से सभी प्रकार के शासकीय खाते हटाए भी जा सकते हैं।

    बैठक के दौरान अपर जिलाधिकारी विनय कुमार पाठक, पी0ओ0 डूडा सुधीर गिरी, एल0डी0एम0 सहित सभी अधिशासी अधिकारी, संबंधित अधिकारी एवं बैकर्स उपस्थित रहेे।

    शरद कपूर, सीतापुर

    आईएनए न्यूज़ एजेंसी

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.