Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    मिशन शक्ति के अंतर्गत नारी शिक्षा और सशक्तिकरण विषयक ऑनलाइन वेबीनार का आयोजन

    मिशन शक्ति के अंतर्गत नारी शिक्षा और सशक्तिकरण विषयक ऑनलाइन वेबीनार का आयोजन

    शाहजहाँपुर. आर्य महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में मिशन शक्ति के अंतर्गत नारी शिक्षा और सशक्तिकरण विषयक ऑनलाइन वेबीनार का आयोजन किया गया। इसने रेंजर्स, रा.से.यो. स्वयं सेविकाओं, छात्राओं और अभिभावकों की प्रतिभागिता रही। सब इंस्पेक्टर सदर थाना  ज्योति त्यागी जी ने वेबीनार में संबोधित करते हुए कहा की महिलाओं को थाने का नंबर, विशेषकर महिला थाने का नंबर तथा हेल्पलाइन के नंबर अवश्य संज्ञान में होने चाहिए ताकि अकेला होने पर किसी असामाजिक तत्व से भय होने पर अथवा आपातकाल की स्थिति में फोन करें। फोन मिलते ही पुलिस विभाग सजग हो जाता है और सुरक्षा के लिए तत्पर हो जाता है महिलाओं की सुरक्षा को प्राथमिकता दी जाती है। उन्होंने 1090, 112 आदि नंबरों को नोट कराया ताकि महिलाएं विषम परिस्थितियों में पुलिस विभाग की सहायता को सही समय पर प्राप्त  कर सकें.

    डॉ सुनीता जैसल ने कहा कि शिक्षा एक अस्त्र है जो महिला जगत की समस्त समस्याओं का निराकरण करने में समर्थ है। नारी शिक्षा पर अत्यंत ध्यान देने की आवश्यकता है। डॉ दुर्गावती सिंह ने बालिकाओं की शिक्षा पर जोर देते हुए कहा कि यह प्रयास परिवार समाज तथा राष्ट्र को उन्नति की दिशा की ओर ले जाएगा। शिक्षित होना नारी का अधिकार है जिसकी नारी सशक्तिकरण में अहम भूमिका है। महाविद्यालय की प्राचार्य डाॅ. कनक रानी ने कहा कि शिक्षित नारी अपने कर्तव्यों के प्रति सजग होती है तथा शोषण के प्रति सावधान भी। श्रेष्ठ समाज की अवधारणा नारी को शिक्षित कर ही चरितार्थ की जा सकती है।

    वेबीनार का संचालन डॉ रानू दुबे ने किया। डॉक्टर शहला नुसरत किदवई जनपद नोडल अधिकारी मिशन शक्ति के मार्गदर्शन में संचालित मिशन शक्ति के प्रथम सत्र में छात्राओं के मध्य नारी जागृति को मुखर करने के लिए ऑनलाइन काव्य प्रतियोगिता आयोजित की गई। रा. से.यो कार्यक्रम अधिकारी डॉ संतोष सक्सेना तथा डॉ रानू दुबे, क्रीड़ा अधिकारी अनुराधा के मार्गदर्शन में छात्राओं ने नारी के आक्रोश, वेदना, उपेक्षा आदि विविध पहलुओं को मार्मिक शब्दों में उपनिबद्ध किया। कविता  प्रतियोगिता में अवंतिका पांडेय प्रथम, अंजलि द्वितीय तथा आयुषी तृतीय स्थान पर रही। सोनाली यादव, आकृति शुक्ला, अलीशा परवीन तथा बबीता आदि ने सुंदर कविताओं को प्रेषित किया

    फ़ैयाज़ उद्दीन, शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.