Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    सारनी की टीम ने दो बार बचाई नाबालिग लड़की की जान, दो बार आत्महत्या का किया था प्रयास

    सारनी की टीम ने दो बार बचाई नाबालिग लड़की की जान, दो बार आत्महत्या का किया था प्रयास

    सारनी।
    जिला पुलिस अधीक्षक सीमाला प्रसाद ने आत्महत्या से बचाव के लिए आसपास अभियान पूरे जिले में चलाया है। इस अभियान के तहत सारनी पुलिस की टीम ने एक नाबालिग लड़की की जान बचाने में सफलता हासिल की है। वेकोलि पाथाखेड़ा की एक नाबालिग 17 वर्षीय लड़की ने पढ़ाई के मामले में परिवार के द्वारा रोकटोक करने से परेशान होकर पहले हाथ की नस काटके जान देने की कोशिश कर चुकी थी। रविवार को एक बार फिर पढ़ाई से रोकने पर गला काटकर जान देने की कोशिश की. जानकारी मिलने के बाद टीआई महेंद्र सिंह के निर्देशन में आसपास अभियान की प्रशिक्षित पूनम तिवारी ने करीबन 2 घण्टे की कोशिश के बाद लड़की की जान बचा ली है।

    टीआई महेंद्र सिंह ने बताया कि जिले में आत्महत्या के बढ़ते मामले पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस अधीक्षक के दिशा निर्देश पर आसपास अभियान शुरू किया है। इस अभियान को सफल बनाने के जिले  सारनी थाने में पदस्थ पुलिसकर्मी को विशेष प्रशिक्षण दिया गया है। उन्होंने कहा कि पाथाखेड़ा की एक नाबालिग लड़की की जान बचाई है। नाबालिग लड़की को बचाने मे चौकी प्रभारी नीरज खरे व महिला पुलिस कर्मी पूनम तिवारी ने करीबन 2 घण्टे की कोशिश करके समझाया है।

    उक्त नाबालिग लड़की ने भविष्य में कभी भी आत्महत्या नही करने की बात कही है। बैतूल जिले में चल रही आसपास अभियान मे आत्महत्या को रोखने के लिए चलाई गई मुहीम में सारनी पुलिस ने दो बार आत्महत्या का प्रयास कर रही लडकी को बचाकर सारनी में बढ रहे आत्महत्या को रोखने हर घड़ी खडी है. जिला पुलिस अधीक्षक सीमाला प्रसाद ने आत्महत्या से बचाव के लिए आसपास अभियान पूरे जिले में बढ रहे आत्महत्या का प्रयास को रोकने में सारनी पुलिस हमेशा तैयार है. ऐसा ही एक मामला अभी सामने आया, जिसमें सारनी की पुलिस ने दो बार उस बच्ची की जान बचाई।   

    बैतुल से शशांक सोनकपुरिया की खास रिपोर्ट

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.