Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अब जनता को तलाशना होगा एक बेहतर विकल्प- प्रशान्त सिंह

    अब जनता को तलाशना होगा एक बेहतर विकल्प- प्रशान्त सिंह

    गोरखपुर. निश्चित ही किसी भी दल को जनता का समर्थन उसकी विचारधारा, नेता और नेता के दिये हुए वचनो से प्रभावित होकर वोट के रूप में मिलता है, तो वो दल शासन में आता है। मगर जब वही दल, वही नेता अपनी विचारधारा अपने वचनो से भटक जाए तो जनता विकल्प ढूढने का प्रयास करना ही चाहिए, जनता के समक्ष विकल्प होना ही चाहिए। उक्त बातें जनसत्ता दल लोकतांत्रिक पार्टी गोरखपुर के जिलाध्यक्ष प्रशांत सिंह ने आज एक प्रेस वार्ता के दौरान कही।

    उन्होंने आगे कहा कि जैसे एक पुत्र से आशाओं-अपेक्षाओं की पूर्ति न होने पर दूसरे पुत्र के तरफ माँ-बाप देखते है। उसी प्रकार जनता जनार्दन को भी विकल्प की तरफ देखना ही चाहिए। उसी के जैसा उसी के समान, "परंतु उससे बेहतर", कर्तव्यनिष्ठ, वादों को निभाने वाला, ध्यान न भटकाने वाला, वसुदेव कुटुम्बकम की विचारधारा पर चलने वाला, "भारत माता की जय"कहने वाला, "सब समान सबका सम्मान" की नीति पर चलने वाला, रामचरितमानस को आत्मसात करने वाला "रघुराज" को विकल्प के रूप में जनता को देखना ही चाहिए। आप सब का जनसत्ता दल को आशीर्वाद एवं सहयोग मिलना ही चाहिए। हम ये नहीं कहते कि हमारे पास जनप्रतिनिधियों, नेताओ की फ़ौज है मगर, जितने भी है वो बोलते है, "गूंगे" नही कर दिए गए है।

    हम ये भी नही कहते कि हमारे पास चिंतकों की बड़ा समूह है, मगर जो है,वो आज़ाद है,अपने विचारों को प्रस्तुत करने के लिए। ऐसा नही है कि, वो वही सोचते या बोलते है जो उपर से आदेश आता है। चलिए मैं ये भी कह देता हूं कि, हमारे पास करोड़ों कार्यकर्ताओं का संगठन नही है मग़र, ये संतोष जरूर है कि जो भी है, जितने भी है, उनका सम्मान है उनको अपने नेता से स्नेह प्राप्त है। उनको जरूरत पड़ने पर उपदेशों का दर्शनशास्त्र नही पढ़ाया जाता।अंत में प्रशान्त सिंह ने बड़े ही जोश और आत्मविश्वास पूर्ण लहजे में कहा 'तो क्यों नही, हम विकल्प बन सकते? तो क्यों नही, हम सेवा कर सकते? हम सब कुछ करेंगे, सत्ता में भी आएंगे, सेवा भाव से जनता का विश्वास भी जीतेंगे।'

    संजय राजपूत

    Regional Editor-INA NEWS

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.