Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    सीतापुर- नाबालिग से गैंगरेप के मामले में तीन अपराधी पुलिस के हत्थे चढ़े, दुष्कर्म का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर किया था वायरल

    नाबालिग से गैंगरेप के मामले में तीन अपराधी पुलिस के हत्थे चढ़े, दुष्कर्म का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर किया था वायरल

    सीतापुर.
    जनपद के थाना इमलिया सुल्तानपुर की काजी कमालपुर पुलिस चौकी के अंतर्गत नाबालिग दलित बालिका के साथ गैंगरेप करने वाले पांचों अपराधी सिर्फ गैंगरेप के आरोपी ही नहीं बल्कि शातिर अपराधी भी हैं, इन दरिन्दों ने पहले तो गैंगरेप जैसी घृणित घटना का वीडियो बनाया और फिर बाद में उस वीडियो को सोशल मीडिया पर वॉयरल भी कर दिया | इतना ही नहीं, ये इतने दुस्साहसी भी हैं कि मुखबरी के आधार पर पुलिस जब गैंगरेप की घटना में शामिल आसिफ नामक नामजद अपराधी को पकड़ने पहुंची तो आसिफ ने पुलिस टीम पर गोलीबारी शुरू कर दी |

              जनपद के बहुचर्चित गैंगरेप जैसे जघन्य अपराध को पुलिस अधीक्षक आर. पी. सिंह ने पूरी गंभीरता से लेते हुए इसकी कमान स्वयं संभाली और अपर पुलिस अधीक्षक डा. राजीव दीक्षित के नेतृत्व में अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए सात टीमें गठित की गई, इन टीमों में थाना रामकोट, हरगांव, महोली, इमलिया सुल्तानपुर के थाना प्रभारियों के साथ सर्विलांस टीम को भी अहम जिम्मेदारी सौंपी गई| पुलिस ने देर शाम तक दुष्कर्म में शामिल कौशल व शीबू को गिरफ्तार कर लिया था |

          यहां पर यह बताते चलें कि इमलिया सुल्तानपुर थाना की पुलिस चौकी काजी कमालपुर क्षेत्र के एक गांव में 14 वर्षीय नाबालिग बालिका के साथ पांच दरिंदो ने दरिंदगी कर उसे अपनी हवस का शिकार बनाया था | इस घृणित गैंगरेप कांड में पीड़िता बालिका का कथित प्रेमी कौशल का ही मुख्य हाथ था, कौशल ने ही अपने दोस्तों के साथ मिलकर इस घिनौने कृत्य को अंजाम दिया था | इन बहशी दरिन्दों ने क्रूरता की सारी हदें पार करते हुए अपने मोबाइल फोन से दुष्कर्म की फोटो व वीडियो भी बनाई थी, जिसे वॉयरल करने एवं जान मारने की धमकी दे कर पीड़िता बालिका को मुँह न खोलने की धमकी दी गई थी | पीड़िता की मां का पहले ही निधन हो गया है तथा बड़ा भाई व पिता दहेज हत्या के आरोप में जिला कारागृह में बंद हैं | यह नाबालिग बालिका अपने नाबालिग छोटे भाई के साथ घर पर अकेली रहती है, दरिंदो ने इस बात का फायदा उठाया कि यह लड़की डर के मारे कहीं मुँह नहीं खोलेगी | परन्तु बालिका की हालत बिगड़ने पर हरगांव क्षेत्र में रहने वाले उसके फूफा उसे अपने साथ ले गए और वहीं डाक्टर को बीमार बता कर इलाज कराने लगे |

    बताया जाता है कि इस दुष्कर्म की जानकारी उसी दिन 7 सितंबर सोमवार को ही काजी कमालपुर चौकी के दीवान को हो गई थी, परन्तु अपनी खाऊ कमाई नीति के कुख्यात दीवान ने मोटी रकम के लालच में ना सिर्फ दुष्कर्म की घटना को दबा दिया वरन अपने उच्चाधिकारियों को भी अंधेरे में रखा | इधर पीड़िता बालिका की हालत लगातार बिगड़ने व सोशल मीडिया पर दरिंदो द्वारा वीडियो वॉयरल करने पर रिश्तेदारों ने थाना प्रभारी इमलिया सुल्तानपुर व पुलिस अधीक्षक से संपर्क कर न्याय की गुहार लगाई | पुलिस अधीक्षक आर. पी. सिंह ने कमान संभालते हुए अपराधियों को पकड़ने के लिए ताबड़तोड़ दबिशों का दौर टीमों से शुरू कराया, जिसमें पुलिस को सफलता भी मिली और कथित प्रेमी कौशल सहित सीबू को सोमवार की देर शाम को गिरफ्तार कर लिया |
              उसी दिन पुलिस टीम को देर रात घटना में शामिल नाजिम व आसिफ का सुराग मुखबिर से मिला, पकड़ने गई पुलिस टीम पर शातिर आसिफ ने फायर कर दिया, जिससे एक दरोगा घायल हो गए हैं | जवाबी कार्यवाही में पुलिस की गोली आसिफ के पैर में लगी, जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर देर रात में जिला अस्पताल में भर्ती कराया | पुलिस अधीक्षक ने बताया कि घटना में शामिल तीन अभियुक्तों को पकड़ा जा चुका है, शेष अपराधी भी शीघ्र ही कानून की पकड़ में होगें |

     शरद कपूर
    आई एन ए न्यूज़ सीतापुर  - उत्तर प्रदेश

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.