Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गोरखपुर में बदमाशों ने दिनदहाड़े मां-बेटी को मारी गोली, महिला की मौत, बेटी की हालत गंभीर

    गोरखपुर में बदमाशों ने दिनदहाड़े मां-बेटी को मारी गोली, मां की मौत, बेटी की हालत गंभीर

    गोरखपुर।

    जिले में बदमाशों को किसी का खौंफ नहीं है। रविवार की सुबह 11.40 बजे शाहपुर इलाके के बशारतपुर सेंट जॉन्स चर्च गली में बाइक सवार बदमाशों ने स्कूटी सवार मां-बेटी को गोली मार दी। अस्पताल ले जाते समय कुशीनगर के अहिरौली में प्रधानाध्यापिका पद पर तैनात मां डेविना उर्फ निवेदिता मेजर (42) की मौत हो गई, जबकि बेटी डेलसिया (16) गंभीर रूप से घायल है। बेटी का मेडिकल कॉलेज में उपचार चल रहा है, जहां डॉक्टर उसकी हालत चिंताजनक बता रहे हैं।

    घटना की सूचना पाते ही डीआईजी राजेश डी मोदक, एसएसपी जोगेंद्र कुमार, एसपी सिटी डॉ. कौस्तुभ शाहपुर पुलिस, क्राइम ब्रांच और फोरेंसिक टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल की घेराबंदी कर कई साक्ष्य जुटाए हैं। घटना की वजह अभी तक स्पष्ट नहीं हो सकी है। शुरुआती जांच में जमीन का विवाद सामने आया है। पुलिस एक युवक को हिरासत में लेकर मामले की जांच में जुटी है। जानकारी के मुताबिक, बशारतपुर पूर्वी निवासी डेविना का घर से 500 मीटर की दूरी पर ही मायका है। अपने पिता डेविड अंतरिया (सेंट एंड्रयूज कॉलेज के सेवानिवृत्त शिक्षक थे) की जयंती पर कब्रिस्तान की सफाई के लिए वह बेटी डेलसिया के साथ स्कूटी से गई थीं। वहां से मायके में कुछ देर रुकने के बाद 11.30 बजे के करीब घर लौट रही थीं।


    इसी दौरान मिलन मैरेज हाउस के पास बाइक सवार बदमाशों ने घेर लिया और ताबड़तोड़ फायरिंग करने लगे। दो गोली लगने से डेविना और एक गोली लगने से बेटी डेलसिया घायल होकर जमीन पर गिर गईं। उधर, गोली चलने की आवाज सुनकर आसपास के लोग बाहर आ गए। लोगों को देख बदमाश फायरिंग करते हुए फरार हो गए।

    घटना की सूचना के बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई। दोनों को अस्पताल ले जाया रहा था कि रास्ते में डेविना की मौत हो गई। मेडिकल कॉलेज में मौत की पुष्टि के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। बेटी का इलाज मेडिकल कॉलेज में चल रहा है। उसकी हालत गंभीर होने की वजह से पुलिस पूछताछ नहीं कर पाई है, जिस वजह से घटना की वजह स्पष्ट नहीं है। शुरुआती जांच में जमीन का विवाद घटना की वजह बताई जा रही है। एक युवक को पुलिस हिरासत में लेकर जांच कर रही है।

    संजय राजपूत

    रीजनल एडिटर गोरखपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.