Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अफीम तस्करों ने तस्करी के लिए निकाला नायाब तरीका, फिर भी धरे गए

    अफीम तस्करों ने तस्करी के लिए निकाला नायाब तरीका, फिर भी धरे गए

    कटरा पुलिस ने अफीम की तस्करी करने वाले गुरु-चेले को पकड़ा

    पानीपत अफीम देने जाते समय पकड़े गए, गिरोह की तलाश में जुटी पुलिस

    शाहजहांपुर।
    अपराधी चाहे कितना भी शातिर हो लेकर एक न दिन वह अपने गुनाहों के लिए जरूर पकड़ा जाता है। ऐसा ही अपराध करने का एक शातिराना मामला प्रकाश में आया। दरअसल नए जूतों के सोल में अफीम छिपाकर तस्करी करने वाले गुरु चेले को कटरा पुलिस ने धर दबोचा। उनके पास से 700 ग्राम अफीम बरामद हुई। पुलिस अब तस्करों के इस पूरे नेटवर्क को खंगालने में लगी है।
             इस मामले में पुलिस अधीक्षक एस. आनंद ने बताया कि बीती रात कटरा पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि लाल पेट्रोल पंप के पास 2 लोग अफीम की तस्करी करने जा रहे हैं। सूचना के आधार पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घेराबंदी कर दोनों अफीम तस्करों को गिरफ्तार कर लिया.

    तलाशी लेने पर उनके पास से अफीम बरामद की गई। पुलिस की माने तो पकड़े गए अरविंद कुमार और रामबहोरन बेहद शातिराना ढंग से अफीम की तस्करी करते थे। ये लोग नए ब्रांडेड जूतों को खरीदकर उनकी सोल में अफीम के पैकड रखकर उन्हें फिर सब चिपका देते थे। इस तरह से यह गैर प्रान्तों में अफीम की तस्करी करते थे। पूछताछ में अरविंद ने पुलिस को बताया कि जलालाबाद में रहने वाला उसका मित्र अंकित एक व्यक्ति से उसे अफीम दिलवाता था जिसे वो पानीपत में सरकार सुखविंदर सिंह को सप्लाई करता था। आफीम के बदले सुखविंदर उसे रुपये देता है। इस तरह पूरे नेटवर्क में कई लोग काम करते थे। जिनके बारे में पुलिस जानकारी जुटाने की कोशिश कर रही है। अफीम तस्करी में पकड़ा गया अरविंद कुमार तिलहर के खनपुरा गांव में रहता था जबकि रामबहोरन तिलहर के ग्राम गुलचम्पा का रहने वाला है। पुलिस ने दोनों के खिलाफ एनडीपीएस में रिपोर्ट दर्ज कर जेल भेज दिया।

    फ़ैयाज़ उद्दीन  शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.