Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गुरु-शिष्य का रिश्ता हुआ तार-तार, शिष्य ही निकला अपने गुरु का हत्यारा

    गुरु-शिष्य का रिश्ता हुआ तार-तार, शिष्य ही निकला अपने गुरु का हत्यारा

    महोली के पूर्व शिक्षक की हत्या का पुलिस ने 24 घंटे में खोला राज

    सीतापुर.
    शुक्रवार की देर रात में महोली कस्बे में पूर्व शिक्षक कमलेश मिश्रा की हत्या में शामिल पुलिस ने एक महिला सहित तीन अभियुक्तो को गिरफ्तार कर घटना का अनावरण 24 घंटे के अंदर करने में सफलता प्राप्त की है. पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त आला कत्ल एवं अवैध असलहा भी बरामद किया है | हत्या का कारण अवैध संबंध व पूर्व शिक्षक का तंत्र मंत्र में शामिल होने की बात सामने आई है, जिसे मुख्य अभियुक्त व हत्या में शामिल महिला ने स्वीकार भी किया है |
    महोली कस्बे में इस सनसनी फैला देने वाले हत्याकांड में पुलिस अधीक्षक आर. पी. सिंह ने पांच पुलिस टीमों का गठन अपर पुलिस अधीक्षक डा. राजीव दीक्षित के नेतृत्व में किया था, साथ ही स्वॉट टीम व सर्विलांस टीम की भी मदद ली गई | हत्या के खुलासे में ब्रजेश मिश्रा प्रभारी निरीक्षक महोली कोतवाली, अनिल पाण्डेय प्रभारी निरीक्षक कोतवाली महमूदाबाद, मनोज कुमार यादव प्रभारी निरीक्षक मिश्रिख कोतवाली, धर्म प्रकाश शुक्ला प्रभारी निरीक्षक थाना खैराबाद, राय साहब द्विवेदी प्रभारी निरीक्षक थाना मानपुर, ज्ञानेन्द्र सिंह स्वॉट टीम एवं सर्विलांस टीम के प्रभारी विजयवीर सिंह सिरोही पुलिस टीम के साथ लगे थे |

         हत्या में शामिल लोगों ने बताया कि मृतक शिक्षक कमलेश मिश्रा सेवानिवृत्ति के बाद पूरी तरह से तंत्र मंत्र के सहारे तांत्रिक बन गए थे, जिसके चलते उन्होंने शमशान भूमि के पीछे काली मंदिर का निर्माण कराया था | जहां वह अपनी तंत्र मंत्र की पूजा पाठ करते थे | इसी दौरान महोली कस्बे के शुकलन टोला निवासी मुकेश शुक्ला पुत्र सुरदत्त शुक्ला इनके संपर्क में आया और वह शिष्य बनकर पूजा पाठ व तंत्र मंत्र में कमलेश मिश्रा की मदद करने लगा | मुकेश के माध्यम से ही शालू पत्नी अखिलेश निवासी शुक्लन टोला महोली पूर्व शिक्षक के संपर्क में आई | शालू तीसरे अभियुक्त अंकुल मिश्रा की सास हैं. भिरिया महोली निवासी अंकुल मिश्रा पुत्र कमलेश मिश्रा के कोई संतान नहीं हो रही थी | जिसके कारण वह मुकेश शुक्ला के माध्यम से तांत्रिक कमलेश मिश्रा से अपनी सास शालू के साथ मिला, जिस पर पूर्व शिक्षक ने तंत्र मंत्र के सहारे अंकुल को संतान सुख का भरोसा दिलाया, यहीं से शालू व तांत्रिक कमलेश का मिलना जुलना शुरू हो गया था | दो वर्ष पश्चात भी अंकुल को संतान सुख नहीं मिलने पर व अवैध संबंध ही इस हत्या का कारण बना | पुलिस ने मुख्य अभियुक्त मुकेश शुक्ला के साथ ही अंकुल मिश्रा व शालू पत्नी अखिलेश को इस हत्याकांड में गिरफ्तार कर संबंधित धाराओं में जेल भेज दिया है. तीनों लोगों ने पुलिस के समक्ष अपना अपराध स्वीकार कर हत्या में प्रयुक्त चाकू व असलहा बरामद करवा दिया है |

    शरद कपूर
    सीतापुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.