Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य पर फूटा भाजपाइयों का गुस्सा, जल्द ही व्यवस्थाएं न सुधरी तो आंदोलन की दी चेतावनी

    मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य पर फूटा भाजपाइयों का गुस्सा, जल्द ही व्यवस्थाएं न सुधरी तो आंदोलन की दी चेतावनी

    मेडिकल कॉलेज की अव्यवस्थाओं के खिलाफ भाजपा कार्यकर्ताओं ने किया प्राचार्य का घेराव

    शाहजहांपुर।
    सरकारी मेडिकल कॉलेज में फैली अव्यवस्थाओं व कोविड-19 के मरीजो के प्रति बरती जा रही लापरवाही के खिलाफ भाजपा नेता राजकमल बाजपेयी के साथ युवाओं ने मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. अभय सिन्हा का घेराव किया। आक्रोशित भाजपाइयों ने प्राचार्य के खिलाफ खूब भड़ास निकाली। साथ ही उन्हें चेतावनी दी कि यदि व्यवस्थाओं में व्यापक सुधार नही किया गया तो आंदोलन किया जाएगा। आक्रोशित कार्यकर्ताओं को शांत करने के लिए सीओ सिटी प्रवीण कुमार को मौके पर आना पड़ा।


    मंगलवार को भाजपा महानगर मंत्री राजकमल बाजपेयी अपने तमाम साथियो के साथ मेडिकल कॉलेज जा धमके, जहां उन्होंने प्राचार्य के कमरे में जाकर उन्हें खून लताड़ा साथ ही खरी खोटी सुनाई। उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज में तमाम तरह की अव्यवस्थाएं हावी हैं। कोविड-19 के मरीजो के प्रति लापरवाही बरती जा रही हैं। उन्हें समुचित इलाज तक नही दिया जा रहा है, जिसके चलते कई मरीजो को जान तक गवानी पड़ी।
     भाजपाईयों के आक्रोश को देखते हुए सूचना पुलिस को दी गई। सीओ सिटी प्रवीण कुमार दलबल के साथ मौके पर पहुंच गए। उन्होंने आक्रोशित कार्यकर्ताओं को समझाकर शांत करवाया। भाजपा नेता राजकमल बाजपेयी ने सुधार न होने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी।

    ******************************

    आक्रोशित कार्यकर्ता ने प्राचार्य को दी जूते मारने की धमकी...




    मेडिकल कॉलेज की कमियों के खिलाफ उग्र हुए भाजपा कार्यकर्ताओं में एक कार्यकर्ता ने आपा ही खो दिया। उस युवक ने मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. अभय सिन्हा को जूते तक मारने की धमकी दे डाली। हालांकि इस बीच राजकमल बाजपेयी ने उसे डांट कर शांत करवा दिया।

    ******************************

    भाजपाइयों के आगे प्राचार्य की बोलती बंद हुई...




    अक्सर अपनी गलती न मानकर बहस करने वाले मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. अभय सिन्हा की आज भाजपाइयों ने बोलती बंद कर दी। युवाओं के आक्रोश के आगे उनकी बोलती बंद हो गई। बहस करने वाले प्राचार्य ने आज शांत रहने में ही अपनी भलाई समझी। हालांकि पुलिस के आने के बाद उन्होंने अपनी सफाई भी पेश की।

    फ़ैयाज़ उद्दीन, शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.