Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पत्रकार की लड़की को जिंदा जलाकर मार डालने के मामले में ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन ने गहरा दुःख व्यक्त किया

    पत्रकार की लड़की को जिंदा जलाकर मार डालने के मामले में ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन ने गहरा दुःख व्यक्त किया 

    (दोषियों के गिरफ्तारी व पीड़ित परिवार को  मुआवजा दिलाया जाने की मांग)

    अयोध्या।

    ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन उत्तर प्रदेश जनपद अयोध्या ने  सुल्तानपुर जनपद के बल्दीराय थाना क्षेत्र अंतर्गत देल्ही बाजार जनमोर्चा के पत्रकार की लड़की श्रद्धा सिंह को जलाकर हत्या किए जाने के प्रकरण में गहरा शोक व्यक्त करते हुए दोषियों की  गिरफ्तारी; पीड़ित परिवार को मुआवजा दिलाए जाने की मांग किया है ।  जिंदा फूंकी गई युवती की मौत के मामले मे चार आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है। 

    बल्दीराय थाना क्षेत्र के टड़रसा मजरे ऐंजर गांव निवासी प्रदीप सिंह की पड़ोस के गांव परसौली निवासी जयकरन से रंजिश चल रही थी। प्रदीप सिंह की बेटी श्रद्धा सिंह  हैंडपंप पर पानी भर रही थी तभी चारो निर्दयी ने श्रद्धा सिंह के मुंह को हाथ से दबाकर उसके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया। इसके बाद चारों ने श्रद्धा का हाथ व पैर बांधकर मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दी थी। गंभीर हालत में श्रद्धा को जिला अस्पताल पहुंचाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे ट्रॉमा सेंटर लखनऊ रेफर कर दिया था।

    परिवारीजन श्रद्धा को लेकर ट्रॉमा सेंटर लखनऊ पहुंचे थे, जहां उपचार के दौरान थोड़ी ही देर बाद उसकी मौत हो गयी। मां अर्चना देवी पत्नी प्रदीप सिंह की तहरीर पर चारों आरोपियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया।

     पुलिस कार्रवाई से भी लोग नाराज ग्रामीणों ने एसओ व चौकी इंचार्ज के खिलाफ नारेबाजी की। यदि पुलिस समय रहते आरोपियों को गिरफ्तार की होती तो शायद श्रद्धा आज जिंदा होती।

    टड़रसा गांव निवासी प्रदीप सिंह जेल मे थे जिन्हे  बेटी की अंतिम संस्कार के लिए कोर्ट से पैरोल मिला।  प्रदीप सिंह ने भी पुलिस की कार्य शैली पर सवाल उठाया है। एसओ बल्दीराय  और देहली बाजार चौकी इंचार्ज की लापरवाही से ही उनकी बेटी की जान गई।   

      ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन उत्तर प्रदेश जनपद अयोध्या के जिला अध्यक्ष देव बक्स वर्मा  ने कहा कि  इस तरह की निर्दयता पूर्ण हत्या  की वारदात की जितनी निंदा की जाए उतना ही कम है  और ऐसे दोषियों को फांसी की सजा होनी चाहिए।  वहीं पुलिस की कार्यशैली पर भी  सवालिया निशान खड़ा करते हुए कहा कि पुलिस ने सूझबूझ से काम लेती तो शायद  श्रद्धा सिंह की हत्या ना होती।  उन्होंने  मृतक आत्मा के प्रति  श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए  भगवान से स्वर्ग में स्थान  और पीड़ित परिवार को दुख सहन करने की  क्षमता की प्रार्थना की  और दोषियों की गिरफ्तारी करके  फांसी की सजा दिलाए जाने की मांग किया।  तथा पीड़ित परिवार को  उचित मुआवजा दिलाए जाने की भी मांग किया

      ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन अयोध्या के सुनील कुमार सिंह, ओम प्रकाश वर्मा ,राजेंद्र कुमार तिवारी" राजन" अखिलेश सिंह, हृदय राम मिश्र ,भोलानाथ मिश्र, प्रमोद दुबे, पवन कुमार तिवारी, पुरुषोत्तम गुप्ता, दयाशंकर मौर्य ,अजय कुमार मांझी, राजेश वर्मा, अरुण कुमार मिश्र, कृष्ण सिंगार मिश्र, रामनेत वर्मा, रवि प्रकाश गुप्त, अवध राम यादव, डा दिनेश तिवारी, जगदंबा प्रसाद ,  राम प्रकाश तिवारी, रमेश  पांडे, आदि ने गहरा शोक व्यक्त करते हुए घटना पर दुख प्रकट किया। आरोपियों को इस तरह की सजा दिलाए जाने की मांग की जिससे दोबारा  घटना का पुनरावृति न हो। पीड़ित परिवार को दुख सहन करने की क्षमता तथा शासन से पीड़ित परिवार को मुआवजा दिलाए जाने की मांग किया है।

    देव बक्श वर्मा
    आई एन ए न्यूज़ अयोध्या - उत्तर प्रदेश

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.