Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    तालीम ज़िन्दगी का सबसे कीमती गहना- अशोक यादव

    तालीम ज़िन्दगी का सबसे कीमती गहना- अशोक यादव

    (संविलयित विद्यालय देना में कोविड-19 का पालन कर 116 बच्चों को यूनिफार्म वितरित की गई)

    सीतापुर.

    तालीम जिन्दगी का सबसे कीमती गहना है। तालीम रूपी नेमत को चुराया नहीं जा सकता. इसकी अहमियत कभी कम नहीं की जा सकती। तालीम जितनी मजबूत होगी इन्सान उतनी ही ज्यादा बुलन्दी को हासिल करेगा। यह बात आज कम्पोज़िट स्कूल देना में तलबा व तालबात को यूनिफार्म तक़सीम के मौके पर मेहमाने खुसूसी की हैसियत से मौजूद खण्ड शिक्षा अधिकारी अशोक कुमार यादव ने कही। 


    उन्होंने इस मौके पर मौजूद बच्चों और स्टाॅफ को खिताब करते हुए कोविड.19 की जानकारी भी मुहैया कराई और इससे बचने के तरीके भी बताये। खण्ड शिक्षा अधिकारी अशोक यादव ने कहा कि कोविड.19 की वजह से स्कूलों तालीमी काम रुका हुआ है मगर हुकूमत की खास तवज्जे की वजह से और टीचर्स की बच्चों के लिए जज़्बा अच्छा काम कर रहा है टीचर्स स्कूली बच्चों को आनलाॅइन शिक्षण के माध्यम से पूरी तत्परता के साथ अपना काम बखूबी अंजाम दे रहे है। शिक्षा ही एक ऐसा माध्यम है जिससे देशए समाज और दुनिया को उन्नति दी जा सकती है। बेसिक शिक्षा विभाग 6 से 14 वय वर्ग के बच्चों की आवश्यकताओं और अच्छी तालीम देने को ध्यान में रखते हुए लगातार काम कर रहा है। अभिभावकों को जागरूक होकर वर्तमान की विषम परिस्थितियों में बच्चों को शिक्षा व्यवस्था से जोड़े रखना है। इण्टरनेटए टेलीवीजन के कार्यक्रम बच्चों को लगातार दिखाये जाने चाहिये ताकि उनकी शिक्षा व्यवस्था पर कोई प्रतिकूल प्रभाव न पड़ने पाये।

      ग्राम प्रधान देना राम भरोसे ने कहा कि सरकार शिक्षा व्यवस्था के प्रति बहुत सजग है। यही कारण है कि शिक्षा क्षेत्र में लगातार नवीन विधाओं को जोड़ा जा रहा हैए शिक्षको को प्रशिक्षित किया जा रहा है। इस विद्यालय में बच्चों के लिये स्मार्ट क्लास की पहले से ही व्यवस्था है। जिसका असर पिछले दिनों बेहतर महसूस किया गया है। क्षेत्र के अवाम में शिक्षा के प्रति जागरूकता में कमी हैए जिस पर काम करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत स्तर से विद्यालय की मूलभूत आवश्यकताओं पर जल्द ही पूरा किया जायेगा।


    प्रधानाध्यापक खुश्तर रहमान खाँ ने अतिथियों का स्वागत करते हुए बताया कि वर्तमान में संविलियन उपरान्त विद्यालय कक्षा एक से आठ तक एक साथ संचालित है। कुल 277 बच्चों का प्रवेश लिया जा चुका हैए और नवीन प्रवेश की प्रक्रिया लगातार जारी है। सभी कक्षाओं के लिये व्हाट्स अप ग्रुप बनाकर शिक्षण सामग्री प्रेषित कर बच्चों को शिक्षण अधिगम से जोड़ा गया है। स्टाफ मनोयोग से आनलाइन शिक्षण हेतु प्रयासरत है। इस सत्र में प्राथमिक अनुभाग हेतु एक अतिरिक्त स्मार्ट क्लास की व्यवस्था पर काम चल रहा हैए जोकि जल्द ही पूर्ण कर लिया जायेगा।

    इस दौरान यूनिफार्म प्राप्त करने उपस्थित हुए सभी 116 बच्चों को छोटे समूहो में सोशल डिस्टेंसिन्ग के साथ पंक्तिबद्ध कराते हुए एक.एक बच्चे के मध्य एक.दूसरे से उचित दूरी बनाते हुए कक्षावार एक.एक बच्चें का नाम पुकार कर उन्हें यूनिफार्म उपलब्ध कराई गई। इस दौरान स्टाफ के मध्य भी कोविड.19 के नियमो का पालन कराया गया और कक्षा एक से पाँच कुल 116 बच्चों का आज यूनिफार्म वितरित की गई है। कक्षा 6 से 8 के शेष बच्चों को कल एवं परसों यूनिफार्म का वितरण किया जायेगा।


    इस अवसर पर शिक्षक परवेज अख्तर अयूबी, किरन अवस्थी, दिलशाद खाँ, अर्चना वर्मा, विमल कुमार, अनुदेशक कामिनी राजवंशी, नीलम, शिक्षा मित्र अलोक कुमार मिश्रा, रसोईया राजेश कुमार, नरेन्द्र श्रीवास्तव, राम लखन, विजय प्रकाश, रामकृष्ण पटेल व शान्ती देवी आदि उपस्थित रहे।

    शरद कपूर /काज़िम हुसैन

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.