Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बिजली चेकिंग के नाम पर किया आर्थिक शोषण

    बिजली चेकिंग के नाम पर किया आर्थिक शोषण

    चेकिंग के नाम पर अब्दुल्लागंज बिजली केंद्र के कर्मचारियों ने बसूले 10 हजार रुपये

    शाहजहाँपुर।
    जनपद में सरकारी विभागों में व्याप्त भ्रष्टाचार कम होने का नाम नहीं ले रहा है. यूं कहिए कि वर्तमान में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है। ताजा मामला बिजली विभाग से सम्बंधित है। मोहल्ला चौभुरजी निवासी आलोक कश्यप ने ऊर्जा मंत्री को लिखे पत्र में कहा है कि 31अगस्त को शाम 7 बजे के बाद सब स्टेशन अब्दुल्लागंज के 5, 6 कर्मचारी बिजली चेकिंग के नाम पर घर में आए तथा उसके घर सहित आस पड़ोस के 4, 5 मकानों में बिजली चेकिंग की। बिजली चेकिंग करने के बाद आलोक ने कहा कि मेरे घर में सब कुछ ठीक ठाक पाया गया।

    बिजली चेकिंग करते समय बिजली के खंभे से घर तक आने वाले केबिल में कहीं पर जोड़ था उसकी वीडियो बना कर अपने साथ ले गए और अगले दिन उसे और अन्य पड़ोसियों को अब्दुल्लागंज सब स्टेशन बुलाया। जब वह अगले दिन सब स्टेशन अब्दुल्लागंज गया तो वहां पर उपस्थित कर्मचारी महेश माथुर ने उससे कहा कि तुम ने बिजली चोरी की है। तुम पर बिजली चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई जाएगी। इससे तुम्हें 50000 का जुर्माना और जेल भी होगी। यह सुनकर प्रार्थी घबरा गया तथा हाथ जोड़ते हुए महेश माथुर से विनती करने लगा और कहा कि वह मजदूर आदमी है। वह इतने पैसे कहां से लाएगा। ये सुनकर कर्मचारी महेश माथुर बोला कि चलो हम तुम्हारा मामला ले देकर के 20000 में  निपटा देंगे। ये सुनकर पीड़ित ने महेश माथुर के पैर पकड़ लिए और कहा साहब हम बहुत गरीब आदमी है 20000 रुपये कहां से लाएंगे तो फिर महेश माथुर ने अपने अन्य सहयोगी साथी से कहा कि चलो इनका मामला 10000 में निपटा दो। फिर अगले दिन जब पीड़ित 10000 लेकर गया तो महेश माथुर ने अपने अन्य सहयोगी साथी को वह रुपये दिला दिए। इस संबंध में प्रार्थी ने ऊर्जा मंत्री से मांग की है कि संबंधित कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

    फैयाज़ उद्दीन, शाहजहांपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.