Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    मंदिर में घुसकर बदमाशों ने बरसाई गोलियां, मचा हड़कंप

    मंदिर में घुसकर बदमाशों ने  बरसाई गोलियां, मचा हड़कंप

     गोलियों की  तड़तड़ाहट का मूल कारण मंदिर का बताया जा रहा है

    अयोध्या।

    जर-जोरू का विवाद बड़ा टेढ़ा होता है।  यह भूत जिसके  सर चढ़ जाता है  तो किसी अनहोनी का ही संकेत होता है।  कुछ ऐसे ही हुआ अयोध्या   जनपद के अयोध्या शहर में गोलियों की तड़तड़ाहट से पूरा इलाका गूंज उठा। जब तक लोग कुछ समझ पाते  तब तक ढेर कर दिए थे और इस घटना में भी  'तू बड़ा कि मैं  का ही विवाद  सामने आया है। जो मंदिर से जुड़ा हुआ था । कलवार मंदिर  में घुसकर  एक व्यक्ति को गोली मार दी गई है। राजेश निषाद नामक व्यक्ति को सीने में तीन गोलियां मारी गई हैं..।जिसे  गंभीर हालत में जिला अस्पताल ले जाया गया, वहां से उसे लखनऊ रेफर कर दिया गया।  बताया जाता है किअयोध्या के कलवार मंदिर के सामने ही मोटरसाइकिल सवार तीन युवक आए और आपस में विवाद के बाद उन्होंने राजेश निषाद को गोली मार दी। इनमें से एक आरोपी पंकज को गिरफ्तार कर लिया गया है। तीन और आरोपी अभी पुलिस की पकड़ से दूर  मुख्य आरोपी अभी फरार है।

     राजेश निषाद के ऊपर भी कई मुकदमे चल रहे थे और वह अयोध्या कोतवाली क्षेत्र का हिस्ट्रीशीटर बताया जाता है. कलवार मंदिर पर भी इसी का कब्जा था और इसको लेकर विवाद भी चल रहा था। कहा जाता है कि जब राजेश कलवार मंदिर की छत पर बैठा था तो उसी समय मोटरसाइकिल सवार तीन युवक वहां पहुंचे, जिनसे राजेश की कुछ देर तक बात होती रही। इसी बातचीत के दौरान आपस में विवाद बढ गयाइसके बाद मोटरसाइकिल सवार तीनों युवकों ने राजेश के सीने पर एक के बाद एक ताबड़तोड़ तीन गोलियां मार दी। इसके बाद आनन-फानन में उसे श्रीराम अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे लखनऊ ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया।
    लेकिन अयोध्या के रिहायशी इलाके में जिस तरह से गोली कांड हुआ उसको लेकर कई सवाल उठ खड़े हुए हैं। इसमें एक सवाल मंदिर के विवाद से जुड़ा बताया जाता है। गोली कांड के बाद चारों तरफ अफरा तफरी का माहौल उत्पन्न हो गया और पुलिस भी मौके पर पहुंच गई. लोगों के आक्रोश को देखते हुए हरकत में आई पुलिस ने घटना में प्रयोग की गई मोटरसाइकिल को कब्जे में लेकर और आरोपी एक युवक पंकज को गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल, घटना के कारणों को लेकर उससे पूछताछ की जा रही है। अन्य दोनों आरोपी फरार है और उनकी तलाश की जा रही है।


    देव बक्श वर्मा, अयोध्या

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.