Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री भारत सरकार के द्वारा भा.कृ.अनु.प.-भारतीय बागवानी अनुसंधान संस्थान, बेंगलूरु के 'बीज पोर्टल का भारतीय स्टेट बैंक के योनो कृषि के साथ एकीकरण एवं उपभोक्ताओं को समर्पण...

    नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री भारत सरकार के द्वारा भा.कृ.अनु.प.-भारतीय बागवानी अनुसंधान संस्थान, बेंगलूरु के 'बीज पोर्टल का भारतीय स्टेट बैंक के योनो कृषि के साथ एकीकरण
    एवं उपभोक्ताओं को समर्पण...


    नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय कुृषि एवं किसान कल्याण मंत्री, भारत सरकार ने दिनांक 25.08.2020 को कृषि भवन, नई दिल्ली में भा.कू अनु.प.-भारतीय बागवानी अनुसंधान संस्थान, बेंगलूरु के 'बीज पोर्टल का भारतीय स्टेट बैंक के योनो कृषि के साथ एकीकरण को उपभोक्ताओं को लाभान्वित करने के लिए समर्पित किया। माननीय मंत्री ने इस बात पर ज़ोर दिया कि नई-नई तकनीकियों का विकास महत्वपूर्ण है और इनका लाभ किसानों तक पहुँचे ताकि उनकी आय दुगुनी हो जाए और उनको गुणवत्तायुक्त उत्पादक सामग्रियाँ बिना बिचौलिए के मिल सके। उन्होंने इस बात का भी उल्लेख किया कि सभी क्षेत्रों में डिजिटाइज़ेशन करना है, जो प्रधान मंत्री का एक सपना है, जिससे सभी स्तरों पर पारदर्शिता रहे।

    उन्होंने आगे कहा कि भारतीय स्टेट बैंक भारत सरकार की विभिन्न योजनाओं, जैसे जनधन योजना, प्रधान मंत्री किसान योजना, और कोविड के दौरान किसानों को राशि उपलब्ध कराने में बहुत ही मुख्य भूमिका निभा रहा है। उन्होंने कहा कि योनो कृषि के साथ बीज पोर्टल के एकीकरण से किसानों को उत्पाद और आय बढाने में सहायता मिलेगी। उन्होंने आशा की कि इस पोर्टल से अधिक से अधिक किसान जुडेंगे और संस्थान के प्रमाणित बीजों से लाभान्वित होंगे| इस एकीकरण के प्रयास के लिए उन्होंने एसबीआई और भारतीय बागवानी अनुसंधान
    संस्थान के कर्मचारियों की सराहना की और आशा की कि इससे अधिक से अधिक कृषक समुदायों को लाभ पहुँचेगा।

    कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. त्रिलोचन महापात्रा, सचिव, डेयर एवं महानिदेशक, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली ने की। उन्होंने कहा कि बीज पोर्टल के साथ योनो कृषि का एकीकरण एक अच्छा पहल है जिससे कि किसानों को गुणवतायुक्त बीज समय पर अपने निवास पर प्राप्त होने में सहायता मिलेगी । समारोह के विशिष्ट अतिथि रजनीश कुमार, अध्यक्ष, भारतीय स्टेट बैंक ने कहा कि किसानों की आय को दुगुना करने के लिए डिजिटाइज़ेशन की एक मुख्य भूमिका है और इसमें एसबीआई योनो कृषि किसानों की सहायता करने में एक प्रमुख योगदान दे रहा है।

    उन्होंने योनो कृषि से किसानों को तरह-तरह से लाभान्वित करने की विशेषताओं से अवगत कराया। उन्होंने यह आशा की कि योनो कृषि से बीज पोर्टल के एकीकरण से किसानों को बीजों की उपलब्धता घर पर ही सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी। संस्थान के निदेशक डॉ. एम.आर. दिनेश ने मंत्री और अन्य अतिथियों का स्वागत किया और कहा कि संस्थान द्वारा कई बागवानी फसलों की किस्मों के रोग-रहित गुणवत्तायुक्त बीजों के विकास से लोगों को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि संरथान प्रति वर्ष 20 टन बीज उत्पादित कर रहा और इसको आने वाले समय में 50 टन करने का लक्ष्य है। डॉ. ए.के. सिंह, उप महानिदेशक (बागवानी विज्ञान ), भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद ने मंत्री और सभी गणमान्य अतिथियों का तहे दिल से शुक्रिया अदा किया।



                  अरविंद सुथार
    कृषि पत्रकार, विशेषज्ञ एवं लेखक
          आई एन ए न्यूज़ एजेंसी

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.