Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गोरखपुर के विधायक को पार्टी ने भेजा 'कारण बताओ नोटिस', पार्टी विरोधी गतिविधियों का आरोप

    गोरखपुर के विधायक को पार्टी ने भेजा 'कारण बताओ नोटिस', पार्टी विरोधी गतिविधियों का आरोप

    गोरखपुर।
    नगर विधायक डॉ. आरएमडी अग्रवाल की मुश्किलें बढ़ गई हैं। सोशल मीडिया पर विरोध को भाजपा ने संगठन व सरकार विरोधी माना है। साथ ही नोटिस देकर सात दिन में जवाब-तलब किया है।

    बता दें कि आजकल पीडब्लूडी के सहायक अभियंता केके सिंह के तबादले के मामले को लेकर नगर विधायक सोशल मीडिया पर खूब पोस्ट लिख रहे थे।

    नगर विधायक के पोस्ट का संज्ञान प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने लिया है। प्रदेश अध्यक्ष के निर्देश पर ही प्रदेश महामंत्री जेपीएस राठौर ने डॉ. आरएमडी अग्रवाल को कारण बताओ नोटिस जारी किया। प्रदेश महामंत्री ने कहा कि नगर विधायक के द्वारा सरकार व संगठन की छवि धूमिल करने वाली पोस्ट सोशल मीडिया पर की जा रही है। आपका यह कृत्य अनुशासनहीनता की श्रेणी में आता है। इस संदर्भ में विधायक को अपना स्पष्टीकरण देने के लिए एक सप्ताह का समय दिया गया है।

    विवाद और नोटिस पर क्या बोले नगर विधायक...

    इस सिलसिले में नगर विधायक का कहना है कि नोटिस की कोई आधिकारिक सूचना नहीं प्राप्त हुई है लेकिन संगठनात्मक एकता को मजबूत करने तथा पार्टी की छवि को बेहतर करने के लिए अनुशासनात्मक कार्रवाई को एक आवश्यक कदम मानते हैं। उन्होंने कहा कि हम पार्टी के पूरी तरह से अनुशासित और समर्पित कार्यकर्ता हैं। नियत समय पर नोटिस का जवाब देने और संगठन के सभी निर्देशों का पालन करने के लिए कृत संकल्पित हैं।

    ऐसे शुरू हुआ गुमनाम डॉक्टर से विधायक बनने का सफर...

    बता दें कि वर्ष 2002 में तत्कालीन सांसद योगी आदित्यनाथ ने शिव प्रताप शुक्ला के मुकाबले डॉ. राधा मोहन दास अग्रवाल को हिंदू महासभा के बैनर तले मैदान में उतार दिया था। उस वक्त डॉ. अग्रवाल को कोई जानता भी नहीं था।

    इसके बावजूद योगी के सघन अभियान का परिणाम यह निकला कि डॉ. राधा मोहन दास अग्रवाल ने कैबिनेट मंत्री शिव प्रताप शुक्ला को 20 हजार से अधिक मतों से हराकर पूरे प्रदेश में सनसनी फैला दी। इसका पूरा श्रेय उन्होंने तत्कालीन सांसद योगी आदित्यनाथ को दिया था।

    संजय राजपूत
    रीजनल एडिटर INA News गोरखपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.