Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कलयुगी बेटे ने बचपन से पालने-पोसने वाली मां का ही कर दिया कत्ल

    कलयुगी बेटे ने बचपन से पालने-पोसने वाली मां का ही कर दिया कत्ल

    गोरखपुर।
    गगहा में डबल मर्डर से पूरे गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है। सोमवार की शाम मां बेटे की डेड बॉडी गांव में लाई गई। परिजनों ने भारी मन से उनका अंतिम संस्कार कराया। वहीं एसएसपी ने उदासीनता बरतने के आरोप में एसएचओ हल्का इंचार्ज और बीट कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया है।

    इस मर्डर का सबसे दुखद पहलू जो उभरकर सामने आया है वह ये सोचने पर मजबूर करता है कि आजकल रिश्तों के कोई मायने नहीं रहे। गांव के लोगों ने बताया कि करीब 20 साल पहले राजेश की पत्नी की मौत हो गई थी तब राजेश का बेटा अंबुज महज 6 साल का था मां की मौत होने के बाद हेमलता ने ही अंबुज को अपना दूध पिला कर पाल पोस कर बड़ा किया बाद में राजेश ने हालांकि दूसरी शादी कर ली थी। लेकिन जिस अंबुज को हेमलता ने अपना दूध पिला कर बड़ा किया था उसने ही अपने रिश्तेदारों के साथ मिलकर उसी दूध पिलाने वाली हेमलता और उनके बेटे की हत्या कर दी। कलयुगी अम्बुज ने अपनी पालनहार हेमलता की हत्या करके बहुत ही घृणित कार्य किया। इस घटना में रिश्तों का भी कत्ल हो गया।

    लोगों का कहना है कि सगे भाइयों और भतीजे के बीच बात इतनी बिगड़ जाएगी इस बात के बारे में किसी ने कल्पना भी नहीं की थी।
                इस मामले में पुलिस की भूमिका की हर तरफ आलोचना हो रही है। यदि मौके पर पुलिस मौजूद रहती तो इस डबल मर्डर के टलने की संभावना थी। मारपीट के बाद पुलिस ने दोनों पक्षों को थाने पर बुला लिया। ऑफिस में मौजूद दीवान तहरीर बदलवाने की कोशिश करने लगे। मामले को देखते हुए गांव में सिपाहियों को भेजने की जहमत तक नहीं उठाई गई।

     दोनों पक्षों के पुलिस हिरासत में मौजूद होने के बावजूद मां बेटे का मर्डर हो गया इसे गंभीरता से लेते हुए एसएसपी ने इंस्पेक्टर हलका इंचार्ज और बीट के हेड कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया है। तीनों पर आरोप है कि वीट सिपाही हल्का दरोगा के साथ इंस्पेक्टर ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया और तत्काल मौके पर पुलिस फोर्स नहीं भेजी गई जिसकी वजह से डबल मर्डर की घटना हो गई।
                    "घोर लापरवाही उदासीनता बरतने के आरोप में एसएचओ हल्का इंचार्ज और बीट कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया है यह भी निर्देश दिया गया है कि ऐसी किसी घटना की सूचना मिलने पर तत्काल मौके पर पुलिस पहुंचे शांति व्यवस्था बहाल होने तक पुलिस पिकेट भी लगाई जाएगी."
    -जोगेंद्र कुमार एसएसपी गोरखपुर

    संजय राजपूत
    रीजनल एडिटर गोरखपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.