Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शकील बदायूनी के नाम से बने ऑडिटोरियम


    शकील बदायूनी के नाम से बने ऑडिटोरियम 


    बदायूं।  "आगाज़" (द वॉइस ऑफ यूथ) की ओर से मोहल्ला सोथा कैंप कार्यालय पर विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया गोष्ठी में हिंदुस्तान के मशहूर मारूफ शायर शकील बदायूनी को उनके योमें पैदाइश के दिन खिराज-ए- अकीदत पेश की गई ।   

    संस्था के संस्थापक आमिर सुल्तानी ने कहा कि शकील बदायूनी जैसी शख्सियत सदियों में पैदा होती है उनका लिखा हुआ गीत "इंसाफ़ की डगर पर बच्चों दिखाओ चल कर" हमेशा प्रासंगिक रहेगा इसको सुनकर नौनिहालों के मन में देश प्रेम के अंकुर फूटते हैं इसी तरह "अपनी आजादी को हम हरगिज भुला सकते नहीं सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं" गीत भी अमर है उन्होंने कहा शकील बदायूनी ने लगभग 100 सुपरहिट फिल्मों में गीत लिखे हैं और 8 बार उन्हें फिल्मफेयर अवार्ड हासिल किया 

    संस्था सदस्य सैयद सरवर अली ने कहा ऐसी प्रतिभा को उसी के शहर ने कुछ नहीं दिया शहर में शकील बदायूनीके नाम से एक ऑडिटोरियम होना चाहिए यही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी 

    इस मौके पर शिराज अल्वी, शाहबाज हुसैन,नितिन गुप्ता,गुड्डू अली, सालिम रियाज,ऐसन जमील सिद्दीकी, फैजुल साकिब, राहुल गुप्ता,अजहर सुल्तान शमशाद सिद्दीकी आदि मौजूद रहे।

    बदायूं से राजीव कश्यप की रिपोर्ट

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.