Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कुशीनगर के एक जिम्मेदार अधिकारी का कारनामा देखिये

    कुशीनगर के एक जिम्मेदार अधिकारी का कारनामा देखिये
    आम लोग करे तो आपदा प्रबंधन के तहत मुकदमा और अधिकारी लोग करे तो जिम्मेदार चुप क्यों ?
    कुशीनगर.
     पूर्व में तमकुहीराज के उपजिलाधिकारी रहे चर्चित उपजिलाधिकारी अरबिंद कुमार जो सरकारी और स्कूल की जमीन को नियमबिरुद्ध तरीके से कुछ लोगो के पक्ष में हस्तांतरित करने को लेकर चर्चा में थे और बर्तमान में कप्तानगंज के उपजिलाधिकारी है वह एक बार फिर अपने कारनामे को लेकर चर्चा में है। दो दिन पहले 16 अगस्त को अपने जन्मदिन के अवसर पर लोकसेवक का मर्यादा भूल भब्य जन्मोत्सव का आयोजन किया जिसमें अधिकारी और कर्मचारी से लेकर उनके शुभेच्छुओं का भारी जमघट लगा। डीजे के धुन पर साहब इस कदर गर्व की अनुभूति में आ गए कि उन्होंने अधिकारी होने का गुमान तथा अपने ब्यर्थ अभिमान के छिछले सागर में सरकार की मंशा को डुबोने की कोई कोर कसर नही छोड़ा और सोशल डिस्टनसिंग की ऐसी तैसी कर बिना मास्क के एक पर एक चढ़े और अपने शुभेच्छुओं के साथ अपना जन्मोत्सव मनाया।

    साहब के जन्मोत्सव के इस जश्न में थानाध्यक्ष कप्तानगंज संजय मिश्रा जी ने भी पूरे मनोयोग से शिरकत किया अब इन लोगो का हिसाब कौन लेगा की इस जन्मोत्सव की परमिशन किसने मांगी थी और किसने दी थी? और अगर इस उत्सव का परमिशन नही था तो आपदा प्रबंधन की धारा 51(बी) और 188 आईपीसी के तहत इसमे शामिल जिम्मेदारों पर मुकदमा दर्ज करने की जिम्मेदारी कौन लेगा? क्या कानून सिर्फ आम लोगो पर ही लागू होगा और कानून के रखवाले यू ही सरेआम कानून तोड़ते रहेंगे? साहब  लोग बड़े प्रभावशाली है ऐसे में इन लोगो के बिरुद्ध कोई कार्रवाई भी होगी यह कह पाना मुश्किल है लेकिन साहब लोग प्रभवशाली और ताकतवर है इसका मतलब यह नही कि वह कुछ भी करे और लोग चुप रहे कुछ बोले नही । जिनके ऊपर कार्रवाई करने की जिम्मेदारी है वह क्या करेंगे यह भविष्य के गर्भ में है लेकिन आम लोग यह जानना जरूर चाहेंगे कि आम और खास के बीच कानून का मापदंड अलग अलग क्यो है ?

    अमित कुमार सिंह
    INA News कुशीनगर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.